हरियाणा में 8 लाख एकड़ फसल जलमग्न: पानी निकालने में लगेंगे 7 दिन; कृषि मंत्री का ऐलान- रिपोर्ट के आधार पर मिलेगा मुआवजा

108
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा में 5 दिनों की बारिश से किसान टेंशन में आ गया है। प्राथमिक रिपोर्ट में राज्य के 8 लाख एकड़ खेतों में बारिश का पानी भर गया है। पानी को निकालने में 7 दिन का समय लगेगा। हालांकि हरियाणा सरकार ने सभी जिलों के डीसी को खेतों से पानी निकालने के लिए हिदायत दी है। साथ ही आज से फसलों को हुए नुकसान के लिए स्पेशल गिरदावरी शुरू करने के निर्देश सरकार की ओर से जारी कर दिए गए हैं।

जींद में मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु: नवरात्र के प्रथम दिन मां शैलपुत्री की पूजा की; सुबह से ही लोगों की भीड़

सीएम सिटी में 90,000 एकड़ फसल प्रभावित

अकेले सीएम सिटी करनाल में 90 हजार एकड़ धान के खेतों बारिश का पानी भरा हुआ है। वहीं कैथल में 4000 एकड़ धान की फसल प्रभावित हुई है। कृषि विभाग के प्राथमिक आंकड़ों में सामने आया है कि सूबे में लगभग 8 लाख एकड़ धान के खेतों में बारिश का पानी भर गया है। किसान फसल को बचाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। हालांकि सरकार की ओर से भी खेतों में भरे पानी को निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं।

खेतों में भरा बारिश का पानी।

पूसा-1509 और PR-126 फसलों को ज्यादा नुकसान

हरियाणा के किसानों ने बताया कि मुख्य रूप से कम अवधि की पूसा-1509 और PR-126 जैसी किस्मों को नुकसान पहुंचा है। नमी की मात्रा अधिक होने से भविष्य में बाजार में कीमतों में गिरावट आ सकती है। जो लोग अपनी फसल काट कर अनाज मंडियों में पहुंच चुके हैं, वे आढ़तियों की जारी हड़ताल के कारण अपनी उपज नहीं बेंच पा रहे हैं

जींद में स्कॉर्पियो पेड़ से टकराई: एक की मौत, 2 गंभीर घायल; सफीदों-पानीपत रोड पर गाड़ी के अनियंत्रित होने से हादसा

खेतों में बिछी फसल, अंकुरित हो रहे दाने

बारिश के बाद चली हवा से धान और बाजरे की फसल खेतों में बिछ गई है। खेतों में पानी भरे होने से फसल के दाने अंकुरित होने लगे हैं। मजबूरी में ऐसी फसलों को किसान फेंकने के लिए मजबूर हैं। किसानों का कहना है कि CM मनोहर लाल को बारिश से फसलों को हुए नुकसान के मुआवजे के लिए विशेष व्यवस्था करनी चाहिए।

अंकुरित होने लगीं फसलें।

अंकुरित होने लगीं फसलें।

रिपोर्ट के आधार पर मिलेगा मुआवजा

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि बारिश से प्रभावित फसलों की स्पेशल रिपोर्ट तैयार करवाई जाएगी। जिसके आधार पर किसानों को फसलों के खराबे का मुआवजा दिया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। साथ ही खेतों में जमा पानी की निकासी एक सप्ताह में करवा दी जाएगी और रबी फसलों की बिजाई तक खेतों से पानी निकलवाया जाएगा। इस मामले में कोई भी कोताही बरतेगा तो कार्रवाई की जाएगी।

4 चरणों में होंगे पंचायती चुनाव: पहले व दूसरे में पंचायत समिति व जिला परिषद सदस्यों तथा तीसरे व चौथे में सरपंच व पंचों के

सुरजेवाला बोले-सोई पड़ी खट्‌टर-दुष्यंत सरकार

बारिश से फसलों को हुए नुकसान पर हरियाणा कांग्रेस सरकार पर हमलावर हो गई है। राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा है कि मंडी से खेत तक लाखों एकड़ फसल ख़राब,न पानी निकासी, न MSP, न मुआवज़ा। हरियाणा की खट्टर-दुष्यंत सरकार सोई पड़ी हुई है। अन्नदाता की चीत्कार कोई नहीं सुन रहा है।

 

खबरें और भी हैं…

.

अंबाला सेंट्रल जेल में बंदी ने लगाया फंदा: 2019 से मर्डर केस में था बंद; रस्सी से गला घोंटकर राजमिस्त्री को उतारा था मौत के घाट
.

Advertisement