मणिमहेश यात्रा का 23 घंटे 18 मिनट चलेगा शाही स्नान: 22 सितंबर दोपहर बाद शुरू होगा मुहूर्त; श्रद्धालुओं की सुविधा को HRTC चलाएगा अतिरिक्त बसें

25
App Install Banner
Advertisement

भारत की पवित्र एवं पावन मणिमहेश यात्रा के लिए देशभर व नेपाल से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। इस यात्रा का शाही स्नान 22 सितंबर को दोपहर 1:36 बजे शुरू होगा और 23 सितंबर दोपहर 12:18 मिनट तक चलेगा। राधा अष्टमी पर्व पर शाही न्हौण का शुभ मुहूर्त कुल 23 घंटे 18 मिनट रहेगा।

मंत्री प्रह्लाद पटेल बोले- महिला आरक्षण बिल कैबिनेट में मंजूर: कुछ देर बाद पोस्ट डिलीट की; कांग्रेस बोली- बिल को हमारा समर्थन

इसी दिन आधिकारिक तौर पर मणिमहेश यात्रा पूरी हो जाएगी। शाही स्नान के साथ ही मणिमहेश यात्रा में डल तोड़ने की परंपरा भी इसी मुहूर्त में संचूई के शिव चेलों द्वारा निभाई जाएगी। शाही स्नान के लिए जिला प्रशासन और मंदिर न्यास समिति ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है।

शाही स्नान के लिए हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु मणिमहेश पहुंचते हैं और डल झील में डुबकी लगाते हैं। इसे देखते हुए हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (HRTC) ने अतिरिक्त बसे चलाने का निर्णय लिया है। ऑन डिमांड बस सुविधा के लिए बाकायदा चंबा व भरमौर HRTC अधिकारियों के नंबर जारी किए गए है।

जन्माष्टमी पर शुरू हुई यात्रा

मणिमहेश यात्रा जन्माष्टमी पर छह सितंबर को छोटा न्हौण के साथ शुरू हुई, जो 23 सितंबर को पूरी हो जाएगी। रोजाना यहां पांच से सात हजार श्रद्धालु डल झील में स्नान को पहुंच रहे हैं। इस यात्रा के दौरान पंजाब के दो लोगों की मौत हो गई है।

चंडीगढ़ वर्कशॉप में लगी आग की होगी जांच: फायर विभाग की टीम पहुंचेगी टोयोटा के शोरूम, दमकल की 6 गाड़ियों ने बुझाई थी आग

घोड़े और हेली टैक्सी से भी कर सकते हैं यात्रा

मणिमहेश यात्रा ज्यादातर श्रद्धालु पैदल करते है। मगर, जो कुछ श्रद्धालु घोड़ों या हेली टैक्सी से भी इस यात्रा को पूरा करते हैं। घोड़े पर हडसर से मणिमहेश के लिए लगभग 4400 रुपए चुकाना होगा, जबकि हेली टैक्सी से जाने के लिए 9000 रुपए किराया देना होगा। पैदल भी श्रद्धालु इस यात्रा को पूरा कर सकते हैं।

 

खबरें और भी हैं…

.

Follow us on Google News:-

.

Advertisement