निफा द्वारा गांव गढ़ी जाटान में लगाया गया विशाल रक्तदान

32
Advertisement

 शिविर,युवाओं में रक्तदान को लेकर लगी होड़



इन्द्री 

निफा द्वारा आजादी के 75वें अमृत महोत्सव पर शुरू किए गए रक्तदान शिविरों के चलते आज उपमंड़ल के गांव गढ़ी जाटान में इन्द्री हल्के का पांचवा विशाल रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। इस मौके पर रक्तदान करने को लेकर युवा वर्ग विशेषकर महिलाओं में विशेष उत्साह देखने को मिला।

किसान धर्मपाल की प्रतिमा का अनावरण: खेदड़ में किसान मोर्चा के नेता पहुंचेंगे; थर्मल पावर प्लांट की राख विवाद में गई थी जान

इस मौके पर दिल्ली रैड़कास की टीम ने रक्त एकत्रित करने में सहयोग किया। रक्तदान श्ििावर का शुभारंभ विनोद शर्मा हैबतपुर ने रिबन काटकर व रक्तदाताओं को बैंज लगाकर किया। निफा प्रदेशाध्यक्ष श्रवण शर्मा ने कहा कि रक्तदान करना खुद की सेहत के लिए भी जरूरी है। रक्तदान कर व्यक्ति अनेक बीमारियों से अपना बचाव कर सकता है। उन्होंने बताया कि निफा की ओर से इन्द्री ब्लॉक में पांचवा रक्तदान शिविर लगाया गया है। निफा रक्तदान के अतिरिक्त देश के 28 राज्यों में विभिन्न प्रकार की समाजसेवा के कार्यो को कर रही है।

अंबाला में अनुरागी पूर्णिमा ने बांधा समा: BPS प्लेनिटोरियम में एक शाम श्रीजी के नाम कार्यक्रम आयोजित; राधे-राधे पर झूम उठे श्रद्धालु

हमारी संस्था द्वारा कला व संस्कृति को बढ़ावा देने, पौधारोपण, रक्तदान व गरीब बच्चों की पढ़ाई जैसे कार्यो को किया जाता है। शर्मा ने कहा कि आज के शिविर में गांव के यूथ क्लब के सदस्यों का विशेष सहयोग मिला है। यूथ क्लब के सदस्यों में रक्तदान को लेकर विशेष उत्साह देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि करनाल में हर रोज एक रक्तदान शिविर लगाया जा रहा है। निफा द्वारा 75000 युनिट रक्त एकत्रित करने का लक्ष्य रखा गया है। मेरी सभी युवाओं से अपील है कि रक्तदान के प्रति सकारात्मक विचार रखे ओर इसमें बढ़चढ़ कर सहयोग करे ताकि देश से रक्त की कमी को दूर किया जा सके। निफा इन्द्री हल्काध्यक्ष शिव शर्मा ने कहा कि रक्तदान से बढ़कर कोई दान नहीं है। रक्तदान महादान है। ऐसे नेक कार्यो में सभी को बढ़चढ़ कर सहयोग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि हमारा अगला रक्तदान शिविर 18तारीख को गांव जैनपुर में लगाया जायेगा।

सरकारी पेंशन में परेशानी: दुलीचंद के पाेते ने कहा- दादा मेरी पेंशन भी जुड़वा दो,  पेंशन बहाल होते ही दुलीचंद के पास पहुंचने लगे पेंशन पीड़ित

ड़ा. अभिषेक शर्मा ने कहा कि थैलीसीमिया एक ऐसी बीमारी है जिसमें मरीज का रक्त बार बार बदलना पड़ता है। ऐसे में रक्त की कमी महसुस ना हो तो रक्तदान शिविरों में माध्यम से निफा द्वारा यह नेक कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रक्तदान करने से शरीर में कोई कमजोरी नहीं आती है। हर एक स्वस्थ आदमी को साल में कम से कम चार बार रक्तदान अवश्य करना चाहिए। उन्होंने युवाओं से अपील की कि नशों से दूर रहे ओर सकारात्मक सोच के साथ समाज के हित के लिए कार्य करे। मौजूदा समय में महिलाओं ने इस धारणा को नकार दिया है ओर आज काफी संख्या में महिलाएं रक्तदान के प्रति आकर्षित हो रही है। उन्होंने कहा कि रक्त केवल मानव शरीर में ही बन सकता है इसलिए रक्तदान करने में पीछे ना रहे। आप के द्वारा दिया गया रक्त कुछ दिनों में शरीर में दोबारा से बन जाता है। यूथ कल्ब के रविन्द्र शर्मा, सरदार इकबाल सिंह, मुकेश शर्मा व सुखविन्द्र धूमसी ने छोटे छोटे गांवों में रक्तदान शिविर लगाने के लिए निफा का आभार जताया ओर कहा कि देश के शहीदों को रक्तदान के माध्यम से सच्ची श्रद्धाजलि देना एक नेक कार्य है। ऐसे सामाजिक आयोजनों से गांवों में भाईचारा बढ़ता है। गांवों के विकास के लिए कार्य करने की युवा वर्ग की सोच बनती है। उन्होंने कहा कि हमारी युवाओं से अपील है कि नशों से दूर रहे ओर देश में फैली सामाजिक बुराईयों के प्रति जनता को आगाह कर एक अच्छे नागरिक बनने का कत्र्तव्य निभाएं। रक्तदान करने आई गांव मनकमाजरा, जैनपुर साधान की महिलाओं ने रक्तदान को लेकर कहा कि रक्तदान करने से शरीर में किसी प्रकार की कोई कमजोरी नहीं आती है।

सिद्धू मूसेवाला का छठा कातिल गिरफ्तार: वेस्ट बंगाल-नेपाल बॉर्डर से पकड़ा गया शूटर मुंडी, हथियार और ठिकाने देने वाले साथी भी पकड़े

हमारी महिलाओं से अपील है कि रक्तदान करने में आगे बढ़े। संस्था की ओर से सभी रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिंह् देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर कपिल शर्मा मुकेश सतीश शर्मा नरेंद्र शर्मा अमन सहोता नवनीत प्रदीप शर्मा बंटी शर्मा संजय गोयल धनपत प्रजापत नवीन कंबोज साहिल कंबोज विजित कंबोज रविंद्र शर्मा विनोद शर्मा मनीष गोयल आशीष शर्मा शुभम विनय कंबोज रमन बैरागी पंकज शर्मा अरुण सहित काफी संख्या में लोग शामिल रहे

Advertisement