कैथल में महिलाओं का प्रदर्शन, पुतला जलाया: बोलीं- भाजपा सरकार बेटी बचाओ का झूठा नारा बंद करे; 22 को सड़कों पर उतरेंगे

17
Quiz banner
Advertisement

 

 

कैथल में प्रदर्शन करते हुए महिलाएं।

हरियाणा के कैथल में खिलाड़ियों के उत्पीड़न के खिलाफ जन संगठनों ने सरकार का पुतला फूंका। इससे पहले सभी संगठनों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष व भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

ब्रेसवेल ने दिखाया कि कोई भी लक्ष्य सुरक्षित नहीं है: दो नई गेंदों से टर्न या रिवर्स स्विंग नहीं मिलने से वनडे टी20 का विस्तार बन गया है

प्रदर्शन में स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया, सीटू, किसान सभा और जनवादी महिला समिति की सदस्य शामिल रही। इन जन संगठनों ने सरकार से कुश्ती संघ अध्यक्ष व सांसद को पद से हटाने व घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की। प्रदर्शन की अध्यक्षता जनवादी महिला समिति के पदाधिकारी सुनीता तितरम व किसान सभा जिला उपाध्यक्ष जयपाल फौजी ने की। इस प्रदर्शन में कई खिलाड़ी भी शामिल हुए। एसएफआई की जिला सचिव सोमिया, महिला नेत्री सुनीता व सीटू जिला सचिव नरेश ने कहा कि भाजपा सरकार को बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ का झूठा नारा बंद कर देना चाहिए। एक तरफ हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह पर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ने यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। इस पर हरियाणा सरकार इसकी निष्पक्ष जांच करने की बजाय आरोपियों को बचाने में लगी है।

पुतला जलाने से पहले रोष जताती महिलाएं।

पुतला जलाने से पहले रोष जताती महिलाएं।

खुद मुख्यमंत्री अनर्गल बयानबाजी कर रहे है। दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय कुश्ती खिलाड़ियों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष व भाजपा सांसद पर दर्जनों खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए है। इन खिलाड़ियों ने यहां तक आरोप लगाए हैं कि इसकी शिकायत करने के बाद उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

इन दोनों घटनाओं की उच्च स्तरीय जांच की जानी चाहिए। यदि सरकार जल्द ही आरोपियों पर कार्यवाही नही करती हैं तो 22 जनवरी को जन संगठनों के सदस्य प्रदेशभर में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे।

 

खबरें और भी हैं…

.
कुरुक्षेत्र में बिजली विभाग की लापरवाही: लेबर पर काम कर रहे लड़के की गांव थाना में करंट लगने हुई मौत, पुलिस जांच में जुटी

.

Advertisement