MBBS छात्रों के जिंदा जलने का मामला: लापरवाह NHAI डायरेक्टर और गावड़ कंपनी पर FIR; हाइवे पर नहीं था रीफ्लैक्टर-डाइवर्जन मार्क

53
Advertisement

 

हरियाणा के सोनीपत में हादसे के बाद 3 MBBS छात्रों के कार में जिंदा जल जाने के मामले में थाना राई पुलिस ने नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आनंद दहिया और गावड़ कंस्ट्रक्शन कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोप है कि तीनों मौतों के लिए ये जिम्मेदार हैं। नेशनल हाइवे के बीच में सीमेंट के बैरिकेड रख दिए गए थे और वहां ऐसा कोई इंतजाम नहीं किया गया, जिससे पता चले कि आगे रोड बंद है। हादसे को लेकर पुलिस की छानबीन जारी है।

विन मनी एप के जरिये ठगी का मामला: दिल्ली के करोलबाग में बिजनेसमैन को बुलाते हैं गुर्गे वीडियाे काॅल कर गिराेह के सरगना से कराते हैं बात

ऐसे हुआ था हादसा

बताया गया है कि गुरुग्राम निवासी रोहित गौरिया, पुलकित निवासी नारनौल, संदेश निवासी रेवाड़ी, नरवीर यादव निवासी सिलारपुर, सोमवीर निवासी दुबलधन और अंकित हुड्डा निवासी खिडवाली रोहतक PGIMS में MBBS कर रहे थे। ये बुधवार रात को आई-20 कार में सवार होकर रोहतक से हरिद्वार के लिए निकले थे। नेशनल हाईवे 334बी जाे कि झज्जर से मेरठ जाता है, से वे सोनीपत पहुंचे। इस बीच उनकी कार बहालगढ़ फ्लाई ओवर के पास पहुंची तो पत्थर के बैरिकेड से टकरा गई। कार में आग लग गई और रोहित,पुलकित व संदेश की जिंदा जलने से मौत हो गई। तीन अन्य घायल हो गए।

हादसे में बुरी तरह से जली गाड़ी ओर मौके पर छानबीन करती पुलिस टीम।

हादसे में बुरी तरह से जली गाड़ी ओर मौके पर छानबीन करती पुलिस टीम।

ये हैं 3 मौतों के जिम्मेदार

सोनीपत में दर्दनाक हादसे का शिकार हुए तीनों भावी डॉक्टरों में से एक रोहित के पिता जयसिंह ने तीनों मौतों के लिए NHAI और गावड़ कंपनी को जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस को दी शिकायत में उसने बताया कि उनके बेटे की गाड़ी मेरठ रोड़ पर बहालगढ़ के पास सडक के बीचों बीच लगे पत्थरों के बैरिकेड से टकराई थी। उन पत्थरों पर NHAI के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार का रीफ्लैक्टर, पेन्ट, चिन्ह, मार्का, रोड डाई वर्जन, Blinker लाइट जैसी कोई व्यवस्था नही की गई थी। जिससे कि वाहन चालकों को पता लगे कि आगे रोड बंद है और उनको टर्न करना है।

विन मनी एप के जरिये ठगी का मामला: दिल्ली के करोलबाग में बिजनेसमैन को बुलाते हैं गुर्गे वीडियाे काॅल कर गिराेह के सरगना से कराते हैं बात

ये प्रोजेक्ट डायरेक्टर आनंद दहिया की घोर लापरवाही है। उनकी लापरवाही के चलते ही उसके बेटे रोहित, पुलकित व संदेश की हादसे में माैत हुई है। इनके साथी सोमवीर, नरवीर यादव व अंकित हुड्डा घायल हैं। रोड का निर्माण गावड़ कंपनी की ओर से किया जा रहा है और कंपनी भी हादसे के लिए बराबर की जिम्मेदार है।

नेशनल हाइवे के फ्लाई ओवर को सीमेंट के बैरिकेड से ऐसे बंद किया गया था।

नेशनल हाइवे के फ्लाई ओवर को सीमेंट के बैरिकेड से ऐसे बंद किया गया था।

इनके खिलाफ केस दर्ज

थाना राई के जांच अधिकारी ASI संजीव ने बताया कि पुलिस ने मृतक छात्र के पिता जय सिंह के बयान पर NHAI के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आनंद दहिया और गावड़ कंपनी के खिलाफ धारा 283/337/304A IPC के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस की छानबीन जारी है। तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के बाद वारिसों को सौंप दिया गया है।

इकलौता बेटा था पुलकित

सोनीपत हादसे में जिंदा जलकर मौत के आगोश में गए तीन MBBS छात्रों में नारनौल का सेक्टर-1 निवासी पुलकित भी है। उनके पिता रमेश कुमार राजस्थान में समाज कल्याण अधिकारी हैं। उसकी मां शिक्षिका है। मां-बाप का वह इकलौता बेटा थ्का। उसकी एक बड़ी बहन है जो कि MBBS करने के बाद भोपाल से पीजी कर रही है। हादसे के बाद से परिवार में मातम पसरा है।

 

खबरें और भी हैं…

.

Instagram अपने उपयोगकर्ताओं की आयु सत्यापित करने के लिए नए तरीकों का परीक्षण कर रहा है
.

Advertisement