CM आज रोहतक वासियों को देंगे सौगात: सूक्ष्म सिंचाई परियोजना का शिलान्यास और मृदा परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन होगा

28
Quiz banner
Advertisement

 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल 4 सितंबर को करनाल में डॉ. मंगल सेन सभागार में विभिन्न राज्य स्तरीय परियोजनाओं का उद्घाटन/शिलान्यास करेंगे। वे करीब 2000 करोड़ लागत वाली कुल 96 परियोजनाओं का उद्घाटन व 73 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इन्हीं में से रोहतक के लिए 2 प्रोजेक्ट हैं, जिनका आज उद्घाटन व शिलान्यास होगा।

खौफनाक तरीके से हुई हरप्रीत की हत्या: यमुनानगर में 2 भाइयों समेत 3 गिरफ्तार; नशे की डबल डोज देकर पीट-पीटकर मारा, पैसों का विवाद

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि रोहतक के लघु सचिवालय के सभागार में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें करनाल के सांसद संजय भाटिया व राज्यसभा सांसद रामचंद्र जांगड़ा बतौर मुख्य अतिथि भाग लेंगे। CM मनोहर लाल कार्यक्रम से वर्चुअली करनाल से जुड़ेंगे। रोहतक की सूक्ष्म सिंचाई परियोजना का शिलान्यास होगा। मृदा परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन होगा।

प्रदेशभर में 22 मृदा परीक्षण प्रयोगशालाएं स्थापित की गई हैं, जिनमें से एक रोहतक में है। सूक्ष्म सिंचाई परियोजना के तहत सरकार ने शहर के गंदे पानी के शोधन के लिए गांव कन्हेली में 10 MLD क्षमता का STP लगाया है। STP द्वारा साफ किए गए पानी को सूक्ष्म सिंचाई के तहत किसानों को उपलब्ध करवाया जाएगा। STP पर समुदाय आधारित सोलर ग्रिड से संचालित होने वाला सूक्ष्म सिंचाई ढांचा तैयार किया जाएगा।

नार्थ जोन जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप का समापन आज: दूसरे दिन हरियाणा की बेटियों का रहा दबदबा, प्रतियोगिता में प्रदेशभर के ले रहे 207 खिलाड़ी हिस्सा

इस परियोजना पर लगभग 23 करोड़ 13 लाख रुपए की राशि खर्च की जाएगी। STP से 3.06 क्यूसिक पानी सिंचाई के लिए उपलब्ध हो सकेगा। सूक्ष्म सिंचाई के लिए 45 HP एवं 100 LPS क्षमता के पम्प लगाए जाएंगे। किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाने के लिए 4715 मीटर लम्बी मुख्य लाइन बिछाई जाएगी। सोलर ग्रिड पॉवर पर आधारित समेकित सूक्ष्म सिंचाई परियोजना से मायना गांव के लगभग 300 किसान लाभांवित होंगे।

इस पानी से 1250 एकड़ अर्थात 506 हेक्टेयर भूमि की सूक्ष्म सिंचाई की जाएगी। ऐसा करने से नहर के 3.06 क्यूसिक शुद्ध जल की बचत होगी, जिसका अन्य कार्य के लिए सदुपयोग हो सकेगा तथा इस पानी से सिंचाई के बाद भूमि की उर्वरा शक्ति भी बढ़ेगी। इस परियोजना से सूक्ष्म सिंचाई को बढ़ावा मिलेगा, जो समय की मांग है तथा STP/ड्रेन के पास खड़े होने वाले पानी से पनपने वाली बीमारियों की समस्या का भी समाधान होगा।

 

खबरें और भी हैं…

.करनाल में गर्भवती के पेट पर मारी लातें: मिसकैरेज हुआ; देवरानी और पड़ोसन पर आरोप, पति बोला- पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

.

Advertisement