हरियाणा के मंत्रियों की 2 घंटे पार्टी ऑफिस में ड्यूटी: CM को खटकी जनता-वर्करों से दूरी; खुद तैयार करेंगे शेड्यूल, दिन अलॉट होंगे

37
Advertisement

 

हरियाणा में मंत्रियों की लोगों से दूरी CM मनोहर लाल को खटक गई है। उन्होंने मंत्रियों के लिए पब्लिक शेड्यूल बनाने का फैसला किया है। इस शेड्यूल के तहत सभी मंत्रियों को BJP के कार्यालय में रोज 2 घंटे बारी-बारी से ड्यूटी देनी होगी।

हरियाणा के मंत्रियों की 2 घंटे पार्टी ऑफिस में ड्यूटी: CM को खटकी जनता-वर्करों से दूरी; खुद तैयार करेंगे शेड्यूल, दिन अलॉट होंगे

इसके लिए मंत्रियों को दिन भी आवंटित भी किए जाएंगे, जिससे पब्लिक को उन्हें मिलने में आसानी रहे। पिछले कुछ समय से मंत्रियों के न मिलने को लेकर विधायक और BJP के वर्कर भी शिकायत कर रहे थे। ऐसे में संगठन की शिकायत को लेकर CM ने यह कड़ा रुख दिखाया है।

यह भी रही वजह
हरियाणा में कुछ मंत्रियों की बेहद खराब परफॉर्मेंस मिली है। कुछ मंत्री राज्य भर में लोगों के बीच पहुंचने के बजाय अपने हलकों तक ही सीमित होकर रह गए हैं। हाल ही में उन्हें बदले जाने तक की चर्चा रही। यहां तक कि केंद्रीय नेतृत्व ने भी इस पर नाराजगी जताई और सीएम को मंत्रियों की आउटरीच बढ़ाने के लिए के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। जिसके बाद CM ने खुद इसे अपने हाथ में लिया है।

नर्स सुसाइड केस में खुलासा: फरीदाबाद में ब्वॉयफ्रेंड से परेशान होकर लगाया था फंदा; शादी का बना रहा था दबाव

सीएम ने कुछ दिन पहले सोनीपत में जनता दरबार लगाया था।

CM पहले ही शुरू कर चुके जनसंवाद
जनता के बीच पहुंच बनाने के लिए मुख्यमंत्री पहले ही जनसंवाद कार्यक्रम शुरू कर चुके हैं। वह लगातार इस कार्यक्रम के तहत लोगों की समस्याओं को सुनते हुए उनका निवारण कर रहे हैं। अब सीएम ने मंत्रियों को भी पब्लिक के बीच ले जाने की तैयारी शुरू कर दी है। हालांकि कुछ मंत्री पहले से ही जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुन रहे हैं।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज भी जनता दरबार लगाकर लोगों की शिकायतें सुनते हैं।

चुनाव में 2 साल से कम वक्त बचा
हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 2 साल से कम समय बचा है। पिछली बार भी भाजपा पूर्ण बहुमत नहीं पा सकी। इसलिए सरकार बनाने के लिए जजपा से गठबंधन करना पड़ा। वहीं 2 साल में भी लोकसभा चुनाव भी होने हैं।

इसलिए पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व यह चाहता है कि उनके नेता पब्लिक के बीच जाएं। हाल ही में पंचायती राज संस्थाओं के लिए संपन्न हुए चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए सार्वजनिक आउटरीच बढ़ाने का यह निर्णय लिया गया है।

 

खबरें और भी हैं…

.
नर्स सुसाइड केस में खुलासा: फरीदाबाद में ब्वॉयफ्रेंड से परेशान होकर लगाया था फंदा; शादी का बना रहा था दबाव

.

Advertisement