शहीदों के बलिदानों का कर्ज नहीं चुकाया जा सकता: जयप्रकाश गोयल

27
Advertisement

स्वतंत्रता दिवस पर स्कूल में बच्चों ने पेश किए रंगारंग कार्यक्रम

एस• के• मित्तल 
सफीदों, हिंदू शिक्षा समिति हरियाणा एवं विद्या भारती हरियाणा के तत्वाधान में चल रहे स्वामी निगमबोध तीर्थ गीता विद्या मंदिर में स्वतंत्रता दिवस बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष जयप्रकाश गोयल ने शिरकत की। मुख्यातिथि ने नगर के गण्यमान्य लोगों के साथ ध्वजारोहण किया। इस मौके पर स्कूल की प्रधानाचार्य रुचि कंसल ने आए हुए अतिथियों को स्वागत किया। वहीं मां सरस्वती की आराधना करते हुए बच्चों ने अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
सांकृतिक कार्यक्रमों में स्कूली बच्चों द्वारा देश की आजादी, तिरंगा हमारी शान की दी प्रस्तुतियां
सर्वधर्म पर आधारित नाटिका एवं अपनी लोक संस्कृति को दर्शाता हुआ दहेज प्रथा पर नृत्य ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। अपने संबोधन में जयप्रकाश गोयल ने कहा कि आजादी की लड़ाई के दौरान और आजादी के बाद देश की सरहदों की रक्षा के लिए हरियाणा के वीर शहादत देने में हमेशा अग्रिम पंक्ति में रहे हैं। हमारे शहीदों और क्रांतिकारियों का उद्देश्य केवल राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्त करना ही नहीं था बल्कि उन्होंने एक ऐसे भारत का सपना संजोया था जहां गरीबी, भुखमरी, आर्थिक विषमता, अशिक्षा और अभाव के लिए कोई स्थान न हो। पिछले कई दशकों में राष्ट्र ने तरक्की का जो सफर तय किया है इसका श्रेय हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को जाता है। हम अपने शहीदों के बलिदानों का कर्ज कभी नहीं चुका सकते। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे राष्ट्रीय एकता व अखंडता को बनाए रखते हुए भारत के नवनिर्माण में अपना अमूल्य योगदान दें।

 

लगातार बदल रहा मौसम: आज हो सकती है बरसात, सप्ताहभर तक तापमान में एक-दो डिग्री उतार-चढ़ाव होने की संभावना

इस मौके पर प्रधान जयप्रकाश गोयल, प्रबंधक राकेश गोयल, सह प्रबंधक रामकरण कश्यप, जितेंद्र गर्ग, प्रवीन मित्तल, मंगत गोयल, पवन गर्ग, शिवचरण कंसल विशेष रूप से मौजूद थे।
Advertisement