विदेश भेजने के नाम पर ठगे 7.30 लाख रूपए

93
Advertisement

 

दो के खिलाफ कबूतरबाजी व धोखाधड़ी का मामला दर्ज

 

एस• के• मित्तल 

सफीदों, पुलिस ने विदेश भेजने के नाम पर पैसे ठगने का मामला दर्ज किया है। सफीदों उपमंडल के गांव मौरखी निवासी सोनू ने गृह मंत्री अनिल विज को अमित छिल्लर व वजीर छिल्लर निवासी गांव भराई (झज्जर) के खिलाफ शिकायत देकर कहा कि आरोपी मेरे कार्यालय अहर चौंक (पानीपत) में आते-जाते रहते थे। आरोपियों मेरे साथ जान-पहचान होने का नाजायज फायदा उठाते हुए बताया कि वे लोगों को विदेश भेजने का काम है।

फतेहाबाद में युवक को 5 साल की कैद: गली में खेल रही बच्ची को उठा ले गया था; स्कूल में की छेड़छाड़

हम तुम्हारे लड़के विशाल सिंह को विदेश यूएसए भेज देंगे और उसको वहां पर अच्छी नौकरी पर लगवा देंगे, जिससे काफी इंकम होगी। मैं आरोपियों के बहकावे में आ गया और मुझसे 7 लाख 30 हजार रूपए में सौदा तय कर लिया। आरोपी मुझसे 2 नवंबर 2018 को 1,00,005 रूपए अपने पिता वजीर छिल्ली के अकाउंट में निफट के माध्यम से मंगवा लिए। उसके बाद आरोपी मेरे लड़के को यूएसए भेजने के लिए 4 नवंबर 2018 को मेरे कार्यालय आकर जरूरी दस्तावेज ले गए। उसके बाद विभिन्न तिथियों में अकाऊंट व नकदी के माध्यम से उससे आरोपी कुल 7,30,005 रूपए ले गए। पूरे पैसे जाने के बाद आरोपियों ने मुझे आश्वासन दिया कि मार्च 2020 के पहले सप्ताह में उसके बेटे को यूएसए भेज देंगे।

सभी ने हमें बताया कि मेकिंग इन इंडिया का क्रेज है, अब बहुराष्ट्रीय कंपनियां चाहती हैं कि हम उनके उत्पाद बनाएं: MIVI संस्थापक

उसके बाद मार्च 2020 के पहले सप्ताह में दोनों आरोपियों ने उससे 10-15 दिन का समय अतिरिक्त मांग लिया। इसके बाद 22 मार्च 2020 को लॉकडाउन लग गया। लॉकडाऊन का हवाला देकर आरोपी उससे बार-बार समय लेते रहे। लॉकडाउन हटने के बाद मैने उनसे कहा कि तुम्हारे द्वारा दिए गए समय की मियाद से भी काफी ज्यादा समय बीत चुका है और मैने मेहनत की कमाई अपने लड़के को विदेश भेजने के लिए दिए हैं लेकिन तुम समय पर समय दिए जा रहे हो। काफी कहासुनी के बाद आरोपियों ने मुझे आश्वासन दिया कि वे उसके पैसे अप्रैल 2021 में वापिस लौटा देंगे। उसके बाद उसने दोनों के पास अपने पैसे वापिस लेने के लिए काफी बार फोन किए लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। जिस पर मैने अपने भानजे बिट्टू के साथ आरोपियों के गांव जाकर वहां के सरपंच के पास पंचायत की तो वजीर छिल्लर ने जल्दी पैसे देने की हामी भरी। जब पैसे नहीं आए तो हम फिर गांव में गए जो उन्होंने हमें अमित छिल्लर ने 70,000 रूपए का चैक साईन करके दिया तथा कहा कि यह चैक दो महीने बाद लगाना व बाकी 6,60,000 रूपए हम 10 जनवरी 2022 तक तुम्हारे घर पर आकर दे देंगे लेकिन उन्होंने पैसे वापिस नहीं किए।

जींद में ससुर ने किया पुत्रवधु से दुष्कर्म: पति ने भी दिया पिता का साथ; विरोध करने पर किया प्रताड़ित, दोनों पर FIR

दोनों आरोपियों ने उसके साथ धोखाधड़ी, विश्वासघात व कबूतरबाजी करके 7,30,000 रूपए हड़प लिए। आसपास पूछताछ करने पर पता चला कि दोनों आरोपी कबूतरबाजी का धंधा करके काफी लोगों से इस प्रकार से रकम हड़प चुके हैं। शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादस की धारा 10/24 इमिग्रेशन एक्ट व 420 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

Advertisement