राम मंदिर प्रतिष्ठा के लिए आए पूजित अक्षत एडवोकेट विजयपाल सिंह को किए भेंट मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम राष्ट्रीय स्वाभिमान के प्रतीक हैं: विजयपाल सिंंह

एस• के• मित्तल 
सफीदों,  अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर अयोध्या से पहुंचे पूजित अक्षत व पत्रक मंगलवार को भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के पूर्व सदस्य एडवोकेट विजयपाल सिंह को भेंट किए गए।
विश्व हिंदू परिषद के जिला सचिव प्रमोद गौतम व नगर संयोजक जयदेव माटा के नेतृत्व में आई टीम ने आहलुवालिया भवन पहुंचकर एडवोकेट विजयपाल सिंह को ये पूजित अक्षत व पत्रक सौंपे। एडवोकेट विजयपाल सिंह ने इन पूजित अक्षतों को माथे से लगाकर श्रीराम दूतों का आभार व्यक्त करते हुए उनका अभिनंदन किया। अपने संबोधन में एडवोकेट विजयपाल सिंह ने कहा कि 500 वर्षों के अथक संघर्ष व बलीदानों के बाद अयोध्या धाम में यह शुभ दिन आ रहा है और बलिदानियों का सपना पूरा हो रहा है। इस प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर देशभर के लोगों में उत्साह का माहौल है। हम सौभाग्यशाली हैं कि अपनी आंखों से राम मंदिर का निर्माण होते हुए देख रहे हैं। राम हमारे रोम-रोम में है, राम हमारे आराध्य हैं, रामकाज में ही हमारा कल्याण है।
उन्होंने कहा कि राम धर्म के मूर्तिमंत स्वरूप और भारत की आत्मा है। राम जन्मभूमि पर राम मंदिर भारतीय मन की शाश्वत प्रेरणा है। श्री अयोध्या धाम में प्राण प्रतिष्ठा का यह कार्यक्रम भारतीय स्वाभिमान एवं सर्वशक्ति संपन्न राम राज्य की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। युगपुरुष श्रीराम सामाजिक समरसता के पर्याय है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम भारतीय राष्ट्रीय स्वाभिमान के प्रतीक हैं। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि 22 जनवरी को खुशी मनाते हुए दिवाली जैसा माहौल हर घर, हर गली, हर मंदिर में दीपमाला करके बनाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!