बाहरी चीजें आंतरिक स्थिति को प्रेरणा प्रदान करती हैं: अनिल मलिक

67
Advertisement

 

बाल सुरक्षा को लेकर सेमीनार आयोजित

 

एस• के• मित्तल 

सफीदों, हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद की राज्यस्तरीय परियोजना बाल सलाह, परामर्श व कल्याण केंद्रों की स्थापना के अंतर्गत आयोजित बाल सुरक्षा को लेकर नेशनल स्कूल बागडू कलां में एक सेमीनार का आयोजन किया गया। सेमीनार में बतौर मुख्यातिथि मंडलीय बाल कल्याण अधिकारी, रोहतक एवं राज्य नोडल अधिकारी अनिल मलिक ने शिरकत की।

6 महीने में न्यूरालिंक मानव परीक्षण एलोन मस्क कहते हैं: यह क्या है, यह कैसे काम करता है और बहुत कुछ

सेमीनार को संबोधित करते हुए अनिल मलिक ने कहा कि यह सच है कि बाहरी चीजें आंतरिक स्थिति को प्रेरणा प्रदान करने वाली होती हैं लेकिन असली खुशी अंतर्मन में महसूस होती है जो इंसान की सफलता में बहुत महत्वपूर्ण है। स्वयं ही विवेकाधीन शक्ति के प्रयोग का सर्वोत्तम माध्यम है जो ना सिर्फ बच्चों को शोषण के विरुद्ध सुरक्षित रखती है बल्कि भविष्य कार्य योजनाओं के तैयार करने में भी मददगार साबित होती है। माता-पिता, शिक्षकों व हर सहयोगी संस्था को समय रहते बच्चों को विभिन्न मुद्दों पर उचित मनोवैज्ञानिक परामर्श प्रदान करने से कठिनाइयों का सामना करने में मदद हासिल की जा सकती है।

केयू शिक्षक संघ चुनाव 14 दिसंबर को: चौधर के लिए 3 शिक्षकों ने ठोकी दावेदारी,कोषाध्यक्ष पर बनी सहमति; छंटनी कल

बच्चों को स्वयं शोषण से बचाने हेतु कुछ गुण विकसित करने होते हैं जिसमें सही और गलत की परख ना करने की हिम्मत, उचित समय पर सही प्रतिक्रिया प्रकट करना, ग्रहण करने की क्षमता बढ़ाना, प्राकृतिक तौर से खुशी का एहसास करके बांट देना, अपनों को शामिल करना तथा स्पष्ट व सच बोलना जरूरी है। कार्यक्रम में परामर्शदाता नीरज कुमार ने कहा कि हिचकिचाहट छोड़कर स्वयं ध्यान केंद्रित करके सही और गलत का निर्णय लें, आवश्यकता अनुरूप माता-पिता से खुली चर्चा करते रहें।

टिकटॉक के इनविजिबल बॉडी चैलेंज का हैकर्स ने फायदा उठाते हुए मालवेयर को पुश किया

कार्यक्रम की संयुक्त अध्यक्षता करते हुए स्कूल प्रिंसिपल उमा वर्मा, महिपाल चहल व सोनू मलिक ने अपने कहा कि मनोवैज्ञानिक परामर्श सेवाओं की निरंतरता से बच्चों के चहुंमुखी विकास में जरूरी बिंदुओं पर समय-समय पर चर्चा अति प्रेरणादायी साबित हो रही है।

Advertisement