पानीपत: परिवार के इकलौटे वारिस ने अपने ही घर का ‘साफ’ किया लॉकर; लाखों के गहने और कैश लेकर फरार

77
पानीपत: परिवार के इकलौटे वारिस ने अपने ही घर का 'साफ' किया लॉकर; लाखों के गहने और कैश लेकर फरार
Advertisement

 

 

पानीपत. हरियाणा के पानीपत में शहर की राज कॉलोनी निवासी आरोपी संयम (22) अपने ही घर से लाखों रुपये और ज्वैलरी चोरी कर फरार हो गया. घर के  इकलौता वारिस बेटे ने अपने ही घर के लॉकर से 10 लाख की नकदी और 40 तोले सोने के आभूषण चुरा लिये. आरोपी की मां ने मामले की शिकायत पुलिस को दी. शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 379 के तहत मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है.

विधायक राजकुमार कश्यप ने सफीदों में दिया महर्षि कश्यप जयंती का न्यौता

किला थाना पुलिस को दी शिकायत में मां रजनी ने बताया, “वह वार्ड नंबर 10, राज कॉलोनी की रहने वाली है. उसका 22 वर्षीय अविवाहित बेटा संयम पिछले काफी समय से गलत संगत में है. जिस कारण वह रोजाना रुपए की मांग के लिए मुझसे और अपने पिता से झगड़ता है. 9 मई की रात करीब 1 से 2 के बीच जब परिवार के सभी लोग सोए हुए थे, तब संयम अचानक मेरे कमरे में आया और लॉकर की चाबियां मांगने लगा. मैंने ने मना किया तो संयम ने जबरदस्ती तकिया के नीचे रखी हुई चाबियां उठा लीं.

बेटे को पता था कि पिता के पैसे और परिवार के गहने लॉकर में रखे हैं: मां 

आरोपी की संयम मां के मुताबिक, “मैंने हाथ से चाबियां छीन ली तो वह आक्रामक हो गया और उसने फिर से मेरे हाथ से चाबी छीनी और धक्का-मुक्की कर मुझे नीचे गिरा दिया. जिससे मैं बेसुध हो गई, फिर मुझे याद नहीं कि उसने क्या किया. जब मुझे होश आया तो संयम अपना काम कर चुका था. घर की अलमारी से 10 लाख की नकदी और 40 तोले सोने के जेवरात निकाल और रात को ही घर से चला गया.”

FCI Recruitment 2022: भारतीय खाद्य निगम में 4710 पदों के लिए होगी भर्ती, 8वीं पास से स्नातकों के लिए मौका

मां का कहना है कि संयम को पता था कि घर में 10 लाख रुपए की नकदी रखी है, क्योंकि उसके पिता राजेश की सब्जी मंडी में आढ़त की दुकान है. पिता ने ये रुपए किसी को देने के लिए इकट्ठा किए हुए थे. संयम यह यह भी जानता था कि जॉइंट फैमिली होने की वजह सभी के आभूषण उसी लॉकर में रखे हैं.

पिता ने कहा- मैच में सट्टा खेलता है बेटा

तूड़े के लिए गौशालाओं को जारी की गई साढ़े 13 करोड़ रूपए की ग्रांट: श्रवण कुमार गर्ग

आरोपी बेटे संयम के पिता राजेश ने बताया कि वारदात के वक्त वह घर में नहीं था, वह अपने काम से बाहर गया हुआ था. राजेश ने यह भी बताया कि उसका एकलौता बेटा संयम पिछले काफी समय से मैच में सट्टा लगाता है. जिस वजह से वह कर्जबन्द हो गया है. उसके मार्केट में पिता के नाम पर लाखों रुपए उधार लिए हुए है. अभी हाल ही में पिता ने पंचायती तौर पर दो लोगों से लाखों रुपए का कर्ज उतारने का समय लिया है. यह कर्ज करीब साढे़ 12 रुपये का है. इसके अलावा भी संयम अपनी बहनों के बैंक चेक फर्जी तरीके से लगाकर खाते से रुपए निकलवा चुका है.

वही, शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी बेटे के खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है. पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

.

.

Advertisement