पांच राज्यों में CNG-PNG सप्लाई के लिए मिली 21 बोलियां, 27 जिलों में होनी है सप्लाई

74
Advertisement

CNG news: उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे पांच राज्यों के कुछ इलाकों में सीएनजी की खुदरा बिक्री और घरों तक पाइप से रसोई गैस की सप्लाई के लिए 21 बोलियां लगाई गई हैं. तेल और गैस नियामक पीएनजीआरबी ने एक बयान में कहा कि पांच राज्यों में फैले 27 जिलों में सीएनजी बिक्री और पीएनजी सप्लाई (PNG supply in five states) के लिए आमंत्रित की गई बोलियों में 6 अप्रैल तक 21 बोलियां आई हैं. पीटीआई की खबर के मुताबिक, ये बोलियां सात कंपनियों ने लगाई हैं और हरेक क्षेत्र में एक से ज्यादा बोलियां लगाई गई हैं.

SEE MORE:

फर्मों के नाम का खुलासा नहीं
खबर के मुताबिक, हालांकि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) ने बोली प्रक्रिया में हिस्सा लेने वाली फर्मों के नाम का खुलासा नहीं किया है. पीएनजीआरबी ने 11ए बोली दौर में पांच भौगोलिक क्षेत्रों में वाहनों को सीएनजी की खुदरा बिक्री और घरों तक पाइप से रसोई गैस की आपूर्ति के लिए बोलियां आमंत्रित की थीं. बाद में इस प्रक्रिया में पुडुचेरी के यनम के रूप में छठे भौगोलिक क्षेत्र को भी जोड़ा गया है जिसके लिए 10 मई तक बोली लगाई जा सकती है.

इन जिलों को भी शामिल किया गया है

उत्तर प्रदेश (cng in Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी, सीतापुर, सिद्धार्थनगर और महराजगंज जिलों को इस बोली दौर में शामिल किया गया है. इसके अलावा बिहार के बांका और झारखंड के दुमका, गोड्डा और साहिबगंज जिले भी इसका हिस्सा हैं. वहीं पश्चिम बंगाल के बीरभूम, मुर्शिदाबाद, मालदा और दक्षिण दिनाजपुर जिले भी इस दौर में शामिल हैं.

ये इलाके भी हैं बोली में शामिल
सीएनजी और पीएनजी (CNG news) सप्लाई को लेकर छत्तीसगढ़ के कोरिया, सूरजपूर, बलरामपुर और सरगुजा को एक भौगोलिक क्षेत्र बनाया गया है जबकि कोंडगांव, बस्तर, सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर और दंतेवाड़ा जिलों को दूसरे भौगोलिक क्षेत्र में जगह दी गई है. पीएनजीआरबी ने कहा कि बोली के इस दौर के पूरा हो जाने के बाद देश की कुल 98 फीसदी आबादी तक सीजीडी नेटवर्क के विकास का रास्ता तैयार हो जाएगा.

Advertisement