गुरु तेग बहादुर 400वां प्रकाश पर्व मनाना मनोहर सरकार का सराहनीय कदम: बचन सिंह आर्य

 

कहा: पानीपत राज्य स्तरीय समारोह में हजारों की तादाद में सफीदों से पहुंचेंगे श्रद्धालु

 

एस• के• मित्तल 

सफीदों, गुरु तेग बहादुर 400वां प्रकाश पर्व मनाना मुख्यमंत्री मनोहर लाल का सराहनीय कदम है। यह बात पूर्व मंत्री बचन सिंह आर्य ने कही।

सरस्वती स्कूल सफीदों में जिला अध्यक्ष राजू मोर ने वार्षिक पारितोषिक वितरण कार्यक्रम में बच्चों को दी शुभकामनाएं … देखिए लाइव…

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से लोगों खासकर युवाओं को अपनी पुरातन संस्कृति से जुडऩे व गुरूओं के बलिदान गाथा से रूबरू होने का मौका मिलता है। इसी मकसद के साथ 24 अप्रैल रविवार को पानीपत में गुरु तेग बहादुर जी का प्रकाश पर्व राज्य स्तर पर मनाया जा रहा है। इस भव्य आयोजन में सफीदों के लोग भारी तादाद में श्रद्धालु पहुंचकर गुरूओं के समक्ष अपना शीश झुकाएंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा की मनोहर सरकार सभी धर्मों के संतों व गुरूओं की जयंतियां राज्य स्तर पर मनाकर उन्हे सम्मान दे रही है। उन्होंने कहा कि संत, महात्मा व गुरू हम सबकी सांझी विरासत है। गुरुओं ने मानवता की भलाई के लिए जो कुर्बानियां दी, उस बलिदान की गौरवगाथा युवा पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए सरकार इस प्रकार के आयोजन कर रही है। उन्होंने कहा कि हिंद दी चादर कहलाए जाने वाले नौवें गुरु, गुरु तेगबहादुर जी ने धर्म और मानवता की रक्षा करते हुए हंसते-हंसते अपने प्राणों का बलिदान दे दिया।

Cyient Outlook: नतीजे के बाद 8% मजबूत हुए शेयर, प्रॉफिट बुक करें या खरीदें, क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह?

उन्होंने आस्था, विश्वास और अधिकारों की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया इसलिए उन्हें सम्मान के साथ हिंद दी चादर कहा जाता है। विश्व के इतिहास में श्री गुरु तेग बहादुर जी साहब का स्थान अद्वितीय है। धैर्य, वैराग्य और त्याग की मूर्ति गुरु तेग बहादुर जी ने 20 वर्ष तक साधना की। उन्होंने धर्म के प्रसार के लिए कई स्थानों का भ्रमण किया। अंधविश्वासों की आलोचना कर समाज में नए आदर्श स्थापित किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!