अंबाला में बोले शिक्षा मंत्री: व्यवस्था करना महत्वपूर्ण है स्कूल खोलना नहीं; बच्चे कम होंगे तो स्कूल बंद करने ही पड़ेंगे

24
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि विपक्ष बेफिजूल की बातें कर रहा है। उन्होंने पहले भी स्कूल बंद किए थे और संख्या पूरी होने पर 66 स्कूल दोबारा खोल भी दिए थे।स्कूल खोलना महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि व्यवस्था करना जरूरी है। वे आज अंबाला सिटी स्थित SA जैन कॉलेज में आयोजित वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

करनाल के खिलाड़ियों ने किया 18 पदको पर कब्जा: जीते 7 स्वर्ण, 5 रजत व 4 कांस्य पदक, 40 खिलाड़ियों ने लिया था प्रतियोगिता में हिस्सा

जहां बच्चे नहीं होंगे स्कूल बंद करने पड़ेंगे

शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार ने 41 स्कूल नए खोले हैं, लेकिन जहां बच्चे नहीं होंगे तो स्कूल तो बंद करने ही पड़ेंगे। सरकार को कोई व्यवस्था तो करनी होगी। ऐसा नहीं कि 2 बच्चों पर टीचर लगाना पड़ेगा। कहा कि स्कूलों की व्यवस्था को ठीक करने के लिए ही यह निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है।

सरकार संवेदनशील, जिसने लोगों की बात मानी

शिक्षा मंत्री ने कहा कि चिराग योजना के नाम पर लोगों को गुमराह करने का प्रयास है। चिराग योजना से काई फर्क नहीं पड़ा। उनकी सरकार संवेदनशील है, जिसने लोगों की बात मानी। कहा कि ट्रांसफर संबंधित आ रही समस्याओं को लेकर टीचर्स के 2 बड़े संगठन को मुलाकात के लिए मंगलवार को बुलाया है। अगर शिक्षकों की कोई समस्या है तो वे उन्हें बता करते हैं।

कुलदीप का अहसान उतारेंगे विनोद शर्मा: बोले- आदमपुर में भजन लाल के परिवार से जो भी चुनाव लड़ेगा, मैं प्रचार कंरूगा

हरियाणा पंजाब सरकार की सहमति के बाद चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नाम बदलकर शहीद भगत सिंह के नाम पर रखने का निर्णय लिया गया है, जिसको लेकर शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि बहुत खुशी की बात है इतने बड़े स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर अगर एयरपोर्ट का नाम होगा तो यह काफी अच्छी बात है।

 

खबरें और भी हैं…

.

इंटेल की टेक-आधारित सड़क सुरक्षा पहल का लक्ष्य भारत में दुर्घटना से होने वाली मौतों को शून्य करना है, किशोर रामिसेटी News18 को बताते हैं
.

Advertisement