CM कार्यक्रम में बना हंसी ठहाको का माहौल: किसान बोला- सरकार ने गऊ के नाम पर वोट मांगे, चीतों पर खर्च किए 100 करोड़

21
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के सिरसा में चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय में आयोजित जन संवाद कार्यक्रम के बीच किसानों की मांग पर हंसी ठहाकों का माहौल बन गया। गौ माता की दुर्दशा पर किसान ने सरकार को चेताने के लिए अपना तर्क रखा। किसान भूपेंद्र वैदवाला ने कहा कि भाजपा सरकार वोट तो गौ माता के नाम पर मांगती है

करनाल तहसील रिश्वत प्रकरण मामला: दो की गिरफ्तारी के बाद अन्य कर्मचारी भी शक के दायरे में, विभाग में मचा हड़कंप

और विदेशों से चीते मंगवाने पर 100 करोड़ रुपए खर्च करती है। इसी बात पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टïर व सांसद सुनीता दुग्गल सहित मंच पर बैठे अन्य नेता व अधिकारी हंसी रोक नहीं पाए।

17 लाख कैश से भरा ATM चुराया: पानीपत में कृष्णपुरा चौकी से 50 मीटर की दूरी पर वारदात; XUV में आए थे 4 बदमाश

हुआ यूं कि सिरसा में बेसहारा पशुओं की भरमार व फसलों को हो रहे नुकसान को लेकर किसान ने सरकार को ध्यान देने की बात कही। किसान का कहना था कि बेसहारा गौवंश, जहां उनकी फसलों के लिए मुसीबत बनता है, तो वहीं आमजन की जिंदगी भी खतरे में रहती है।

सिरसा पंजाब व राजस्थान के बॉर्डर के साथ लगता है, इसलिए प्रशासन भी बेसहारा गौवंश की समस्या के निदान को लेकर बार-बार असमर्थता दिखाता है। तर्क दिया जाता है कि बॉर्डर के इलाकों से आए दिन बेसहारा पशु सिरसा में प्रवेश करते है। यहां गौशाला में काफी संख्या में गौवंश रखा गया है, बावजूद इसके समाधान नहीं हो रहा।

कुछ भी नहीं फोन (1) कैमरा गुणवत्ता और अधिक में सुधार के लिए नया अपडेट प्राप्त करता है: सभी विवरण

किसान ने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार गौ माता के नाम पर वोट मांगती है, लेकिन मनुष्य तक को खाने वाले चीतों को विदेशों से लाने पर 100 करोड़ रुपए खर्च करती है। सरकार को चाहिए कि 5-10 करोड़ बेसहारा गौवंश पर खर्च कर दें, तो इस समस्या का निदान हो सकता है। गौवंश दूध देकर मानव जाति पर उपकार करता है। ऐसे में उसे दुर्दशा से बचाने के लिए सरकार को गंभीर प्रयास करने चाहिए। किसान की इस बात पर मंच पर मौजूद सभी नेता व अधिकारी हंसने लगे।

 

खबरें और भी हैं…

.
नारनौल में 1058 वरिष्ठ नागरिकों को मिले उपकरण: सांसद धर्मवीर बोले- 75 साल में पहली बार सीएसआर फंड का सही उपयोग

.

Advertisement