5 किलो चरस समेत नेपाली काबू: चंडीगढ़ पुलिस कुल्लू से पकड़ लाई; जंगली क्षेत्र में करता था खेती

22
Quiz banner
Advertisement

 

 

चंडीगढ़ पुलिस की क्राइम ब्रांच की एंटी नार्कोटिक्स टास्क फोर्स(ANTF) ने इंस्पेक्टर सतविंदर सिंह की अगुआई में एक ड्रग सप्लायर खड़ग बहादुर को गिरफ्तार किया है। उसकी गिरफ्तारी हाल में पंजाब यूनिवर्सिटी और शहर के अन्य कॉलेजों में ड्रग सप्लाई करने वाले सेक्टर 51 के तनुज गर्ग से प्राप्त जानकारी के आधार पर हुई है। आरोपी खड़ग बहादुर(63) मूलरुप से नेपाल का रहने वाला है और मौजूदा समय में हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के मनीकरण में गांव नखटां में रह रहा था।

चंडीगढ़ पुलिस किडनैप बच्चों को ढूंढने में फेल: 3 सालों में गायब 43 बच्चों को नहीं कर पाई ट्रेस, प्रशासक भी जता चुके चिंता

पुलिस ने उसके कब्जे से 5 किलो चरस बरामद की है। उसके खिलाफ NDPS एक्ट की धारा 29 के तहत केस दर्ज किया गया है।

जंगल में छिप कर करता था खेती
पुलिस के मुताबिक खड़ग बहादुर कुल्लू में जंगली इलाके में चरस की पैदावार करता था और जब चरस की फसल पक जाती थी तो नेपाल से लेबर मंगवा कर उसकी कटाई करवा देता था। जिसके बाद वह कस्टमर्स को चरस बेचता था। क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर सतविंदर सिंह ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश कर उसका रिमांड लिया जाएगा। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश करेगी कि वह ट्राईसिटी(चंडीगढ़-पंचकूला-मोहाली) में कहां-कहां और किसे ड्रग सप्लाई करता था।

ट्राईसिटी में खड़ग सिंह के कस्टमर्स कौन?
बता दें कि बीते 3 दिसंबर को आरोपी तनुज की गिरफ्तारी की गई थी। उसके कब्जे से पुलिस ने 110 ग्राम चरस बरामद की थी। सेक्टर 49 थाने में उसके खिलाफ केस दर्ज हुआ था। पुलिस ने उसका 3 दिनों का रिमांड हासिल किया था। रिमांड के दौरान पुलिस ने जानकारी जुटा कर कुल्लू में रेड की थी। तनुज की निशानदेही पर खड़ग बहादुर को काबू किया गया जो चरस का मुख्य सप्लायर बताया गया है।

डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी माइक्रोसॉफ्ट, एनवीडिया और अन्य पर साइबर हमलों की जांच करेगा

खबरें और भी हैं…

.
करनाल में खालिस्तानी से नारे से उड़ी पुलिस की नींद: पूरी रात जुंडला में पुलिस की गाड़ियों का गूंजता रहा सायरन, ग्रामीणों की भीड़ देख चौकी इंचार्ज के छूटे पसीने

.

Advertisement