हिसार में हुए हत्याकांड में सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा, 5 लोगों ने शव को किया था खुर्द-बुर्द

हिसार। हिसार के हांसी निवासी एक युवक के संदिग्ध अवस्था में 16 मार्च को कैंट के पास मृत मिलने के मामले में स्वजनों ने सीसीटीवी फुटेज खंगाली। जिसमें पता लगा कि युवक को पहले आटो से टक्कर मारी गई, फिर पांच लोगों ने उसके शव को खुर्द-बुर्द किया। मामले में हांसी की सैनियान मंडी निवासी विनोद ने सदर थाना पुलिस को शिकायत दी है।

मुकेश बेहोशी में हालात में मिले

इन्फरारेड तकनीक से मोटापे पर कार्यरत भक्ति योग आश्रम शरनाखेड़ी में मरीजों की क्या है राय… देखे लाइव…

शिकायत में बताया कि वह हांसी में उमरा गेट पर हलवाई की दुकान चलाता है। उसके चार भाई थे। उसका छोटा भाई 30 वर्षीय मुकेश अविवाहित था और उसकी माता के साथ रहता था। 16 मार्च को हांसी से नगर परिषद के चेयरमैन प्रतिनिधि विनोद सैनी का उसके भाई संजय के पास फोन आया कि आपका भाई मुकेश बेहोशी की हालात में खरड़ चुंगी समाधा रोड पर पड़ा हुआ है। रात 11 बजे के करीब स्वजनों के साथ मौके पर पहुंचे और मुकेश को सरकारी अस्पताल ले गए। जहां पर डाक्टर ने मुकेश को मृत घोषित कर दिया। 17 मार्च की सुबह उसके भाई संजय ने ब्यान करवाया था कि उन्हें सूचना मिली है कि उसके भाई मुकेश की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है। उसने हांसी शहर थाना में केस दर्ज करवा दिया।

शव को किया खुर्द-बुर्द

KGF Chapter 2 Box Office: ‘केजीएफ 2’ ने सोमवार को छीन लिया ‘बाहुबली 2’ का यह रिकॉर्ड, 200 करोड़ क्लब में पहुंचने वाली सबसे तेज फिल्म

उसके भाई मुकेश का पोस्टमार्टम बोर्ड द्वारा करवाया था। कुछ दिन बाद अपने स्तर पर घटनास्थल के आसपास के कैमरे देखे तो हांसी में सैनियान मंडी के पास लगे कैमरे की फुटेज में देखा कि 16 मार्च की दोपहर 4.30 बजे उसका भाई मुकेश  खरड़ चुंगी निवासी प्रदीप की स्कूटी पर जाता हुआ दिखाई दिया और रात करीब 8:15 बजे उसके भाई मुकेश के शव को खुर्द बुर्ज करने के लिए तीन चार आदमी किसी व्हीकल से गिरा रहे थे। पांच अप्रैल को उसने प्रदीप व जींद की राम कालोनी निवासी दलीप और दो-तीन अन्य व्यक्तियों के खिलाफ उसके भाई मुकेश की हत्या करके उसके शव को खुर्द बुर्द करने बारे शिकायत दी थी। जिस पर सिसाय पुलिस चौकी इंचार्ज अनिल कुमार ने दोनों पक्षों को बुलाया और दोनों पक्षों से पूछताछ की।

टक्कर लगने से एक्सीडेंट में लगी चोटों लगी

उसका भाई मुकेश प्रदीप की स्कूटी पर उसके साथ पीछे बैठकर हांसी से किसी काम के लिए हिसार आ रहा था। जब कैंट के गेट नंबर चार के नजदीक पहुंचा तो स्कूटी के टायर में पंचर हो गया था । तो उसका भाई स्कूटी से नीचे उतरा तो पीछे से मय्यड़ की तरफ से दिलीप अपने आटो को तेज रफ्तार और लापरवाही से चलाता हुआ आया और उसके भाई मुकेश को टक्कर मारी। टक्कर लगने से एक्सीडेंट में लगी चोटों के कारण उसके भाई की मौत हो गई थी। फिर प्रदीप और दलीप व दो-तीन अन्य व्यक्तियों ने उसके भाई के शव को खुर्द-बुर्द करने के लिए समाधा रोड श्मशान घाट के नजदीक बनी डायरी के पास फेंक दिया था। पुलिस ने शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!