सिरसा में नगरपालिका कर्मियों का अल्टीमेटम: मांगें न मानने पर मनाएंगे काली दिवाली; 21 अक्टूबर से होगी अनिश्चितकालीन हड़ताल

13
Quiz banner
Advertisement

 

 

हरियाणा के सिरसा में नगर पालिका कर्मचारी संघ से जुड़े फायर ब्रिगेड कर्मचारी इस बार काली दिवाली मनाएंगे। नगरपालिका कर्मियों ने गुरुवार को काले झंडे लेकर सिरसा में संयुक्त तौर पर प्रदर्शन किया। रोष जताया कि सरकार और विभाग उनकी मांगों और समस्याओं पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

ज्योतिषों ने महिला से हड़पे 8 लाख: समस्याओं के समाधान के लिए किया था संपर्क; काले जादू का आरोप, हिसार में 2 पर FIR

ये किया आंदोलन का ऐलान

सुखदेव ने कहा कि कच्चे कर्मचारी का रास्ता भी बंद कर दिया गया है और बेरोजगार युवाओं को नियमित रोजगार मिलने की संभावना भी समाप्त हो गई है, जोकि किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कर्मचारी नेताओं ने चेतावनी दी कि 4 अक्तूबर तक मांगों का कोई समाधान नहीं हुआ तो झाड़ू प्रदर्शन होगा। 11 अक्तूबर को एक दिवसीय भूख हड़ताल की जाएगी। इसी के साथ काली दिवाली मनाई जाएगी। कर्मचारी 19 व 20 अक्तूबर को 2 दिवसीय हड़ताल पर चले जाएंगे। यहां भी बात नहीं बनी तो 21 से अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू की जाएगी।

सरकार कर्मियों की सुन नहीं रही

कर्मचारी नेता सुखदेव सिंह, जिला प्रधान नगर पालिका मनोज अठवाल, जिला सचिव अग्नि शमन विभाग यूनियन राजेश कुमार और ब्लाक प्रधान नरेश कुमार की अध्यक्षता में कर्मियों ने काले झंडे दिखाकर प्रदर्शन किया और इसके बाद डीएमसी को पत्र सौंपा। कर्मी नेताओं ने कहा कि दुख का विषय है कि कर्मचारियों की मांगों व समस्याओं का समाधान करने के लिए सरकार द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।

कर्मियों की छंटनी का दौर शुरू

मांगों को लेकर संघ समय-समय पर आंदोलन भी किए गए, लेकिन सरकार ने कर्मचारियों की मांगों को हल नहीं किया। विभिन्न प्रकार के ठेकों एवं पार्ट-1 व पार्ट-2 में रोल पर लगे कर्मचारियों को पक्का करने की बजाय सरकार हरियाणा कौशल रोजगार निगम में शामिल कर रही है। अलग-अलग विभागों में छंटनी व वेतन कम होने का दौर शुरू हो गया है।

 

खबरें और भी हैं…

.
यमुनानगर में मांगों को लेकर किसानों का प्रदर्शन: खराब फसलों और लंपी बीमारी से मरे पशुओं पर मांगा मुआवजा; डीसी को ज्ञापन

.

Advertisement