विश्व हिन्दू परिषद एवं बजरंग दल ने मनाया शोर्य दिवस

50
Advertisement
एस• के• मित्तल
सफीदों,         विश्व हिन्दू परिषद एवं बजरंग दल ने सफीदों के विभिन्न वार्डों में जाकर शोर्य दिवस मनाया। इस आयोजन की अध्यक्षता विहिप जिला सहमंत्री प्रमोद गौत्तम ने की। इस मौके पर समाजसेवी चंद्रपाल, बजरंग दल के नगर संयोजक सतीश बलाना व सह संयोजक प्रवीन हिंदू विशेष रूप से मौजूद थे। इस मौके पर पदाधिकारियों व कार्यकत्र्ताओं ने जय श्री राम का उद्घोष किया।
अपने संबोधन में विहिप जिला सहमंत्री प्रमोद गौत्तम ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद द्वारा हिंदू समाज के आस्था के केंद्र भगवान श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या मुक्त कराने के लिए जब आंदोलन हाथ में लिया गया। उससे पहले 76 लड़ाईयां हिंदू समाज ने लड़ी थी और लाखों लोगों का बलिदान हुआ था। इसका परिणाम आज हम सबके सामने है। यह कार्यक्रम प्रत्येक वर्ष इसलिए मनाया जाता है कि आगे आने वाली पीढिय़ां अपने शौर्य के दिन को ना भूल सके। अपने गौरव और स्वाभिमान की रक्षा के लिए अपने धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए अगर प्राणों की आहुति भी देना पड़े तो उससे पीछे हम कभी नहीं हटेंगे।
उन्होंने कहा कि आज के दिन ही पूरी दुनिया के हिंदुओं के आस्था के प्रतीक भगवान श्री राम की जन्मस्थली से हिंदू समाज के माथे पर लगा कलंक हिंदू समाज के शौर्य से समाप्त हुआ था। धर्म सत्य और न्याय की जीत हुई थी। यह दिन हिंदू समाज के लिए हमेशा सबसे बड़े खुशी और शौर्य का दिन रहेगा। कार सेवकों ने 30 वर्ष पूर्व श्रीराम जन्मभूमि पर बने बाबरी ढाँचे का विध्वंस किया था।
Advertisement