लंपी की रोकथाम के लिए लगाए 20 हजार टीके: महेंद्रगढ़ में 10 दिनों में सभी गौवंश को टीके लगाने का लक्ष्य

23
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में पशुओं विशेषकर गौधन में लम्पी स्किन बीमारी (एसएसडी) की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन ने रविवार को सभी गौशालाओं में स्प्रे के अलावा टीकाकरण का कार्य भी पूरा कर लिया है। रविवार को लगभग 20 हजार टीके गौशालाओं में प्रयोग किए गए हैं। अगले 10 दिनों में जिला के सभी गौधन को टीका लगा दिया जाएगा।

परिवारवाद और प्रशिक्षण की कमी से कांग्रेस खत्म: भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रशिक्षण शिविर में पूर्व सांसद का दावा; बोली-BJP इनसे दूर

डीसी के निर्देश पर आज रजिस्टर्ड गौशाला/नंदीशालाओं में हाइपोक्लोराइट का सोल्युशन सभी ईओ, सेक्रेटरी व बीडीपीओ दिन भर इसी काम में लगे रहे। महेंद्रगढ़ एलएसडी कंट्रोल नाम से बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से डीसी खुद दिनभर इस कार्य की निगरानी करते रहे।

पशुओं में टीकाकरण करने पहुंची टीम।

पशुओं में टीकाकरण करने पहुंची टीम।

डीसी डॉ जयकृष्ण आभीर ने दूसरे जिले और एक राज्य से दूसरे राज्य में पशुओं को लाने व ले जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। बीमार पशु को जोहड़, तालाब या बाहर दूसरे पशुओं के साथ ना ले जाने की सलाह दी है । जिला में पशुपालन विभाग द्वारा लम्पी की बीमारी की रोकथाम के लिए सभी गौशालाओं में टीकाकरण, फॉगिंग, स्प्रे का कार्य पूरा कर लिया गया है।

आदमपुर में कुलदीप ने काम नहीं ‘कारनामे’ किए: दीपेंद्र हुड्‌डा बोले- मैं राज्यसभा सांसद, नहीं लडूंगा चुनाव, पर उम्मीदवार जिताऊ होगा

पर्याप्त दवाई उपलब्ध

उपायुक्त डॉ जयकृष्ण आभीर ने कहा कि पशु पालकों को लम्पी बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है। हरियाणा सरकार व जिला प्रशासन की ओर से बीमारी की रोकथाम के लिए सभी संभव कदम उठाए जा रहे हैं। किसी भी पशु में लक्षण प्रतीत होने पर तुरंत अपने नजदीक के पशु चिकित्सक से संपर्क करें। पशुपालन विभाग के पास बीमार पशु के ईलाज के लिए पशु चिकित्सक व दवाई उपलब्ध हैं।

25 हजार डोज आएंगी

पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डॉ नसीब सिंह ने कहा कि दिन भर पशुपालन विभाग का पूरा अमला इसी कार्य में लगा हुआ था। सरकार के निर्देशानुसार आज सभी गौशालाओं में यह कार्य पूरा किया गया है। अब अगले 10 दिनों में जिला के अन्य गौधन को टीके लगा दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जिला महेंद्रगढ़ के लिए 24 अगस्त तक 25 हजार डोज पहुंच जाएंगी।

 

खबरें और भी हैं…

.इंटेल की टेक-आधारित सड़क सुरक्षा पहल का लक्ष्य भारत में दुर्घटना से होने वाली मौतों को शून्य करना है, किशोर रामिसेटी News18 को बताते हैं

.

Advertisement