मेवात में ऐतिहासिक धरोहरों की भरमार, उपेक्षा के कारण खोते जा रहे अपनी पहचान

55
मेवात में ऐतिहासिक धरोहरों की भरमार, उपेक्षा के कारण खोते जा रहे अपनी पहचान
Advertisement

मेवात. मेवात जिले में प्रशासनिक उपेक्षा के कारण ऐतिहासिक धरोहर मिटती जा रही है. पुरात्तव विभाग का भी मेवात की धरोहरों को संजोय रखने पर खास ध्यान नहीं है. जिले में राजाओं की अनेक राजधानी व ऐतिहासिक शहर मौजूद हैं. जिनमें मुगल काल से पहले व बाद के शानदार नक्काशी से सजे खूबसूरत महल, बावड़ी, मंदिर, मस्जिद आदि मौजूद हैं. ऐतिहासिक इमारतों को समय रहते बचाया नहीं गया तो मेवात का गंगा-जमुना तहजीब का अंत हो जाएगा, जिससे आने वाली पीढ़ी दंत कथा तक सिमट कर रह जाएगी.

.

.

Advertisement