महेंद्रगढ़ मारपीट केस में अभी गिरफ्तारी नहीं: हवलदार समेत 3 पुलिस कर्मियों पर है केस; DSP ने दी पूरे मामले की जानकारी

20
Quiz banner
Advertisement

हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिला के गांव भालखी निवासी कंवर सिंह से मारपीट के मामले में आरोपी हवलदार और सिपाहियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज होने के 24 घंटे बाद डीएसपी रणबीर सिंह ने गुरुवार थाना कनीना में मामले को लेकर जानकारी दी।

निरीक्षण: सिविल अस्पताल, 4 सीएचसी, 8 पीएचसी व 7 सब सेंटरों को मिलेंगे 12.75 लाख

कंवर सिंह फरार हुआ था

डीएसपी रणबीर सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 18 नवंबर को कंवर सिंह भालखी गांव के बस स्टैंड के पास अपनी गाड़ी के साथ खड़ा था और सार्वजनिक स्थान पर शराब पी रहा था। सीआईए महेंद्रगढ़ की टीम उधर से गुजर रही थी। टीम ने गाड़ी रोककर कंवर सिंह से सार्वजनिक स्थान पर शराब पीने बारे पूछताछ की तो कंवर सिंह अंधेरे का फायदा उठाकर वहां से भाग गया।

CIA ने की थी गाड़ी इंपाउंड

सीआईए महेंद्रगढ़ की टीम द्वारा कंवर सिंह की गाड़ी को ले जाकर महेंद्रगढ़ सीआईए में इंपाउंड किया गया था। इसके बाद कंवर सिंह ने डायल 112 पर फोन किया और नजदीकी दौंगड़ा चौकी में चला गया। इस मामले की जांच में सामने आया कि कंवर सिंह ने 19 नवंबर को चालान की जुर्माना राशि भरकर अपनी गाड़ी को छुड़ाया और इसके बाद नंदनी हॉस्पिटल महेंद्रगढ़ में एडमिट हो गया था, जिसे 20 नवंबर को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया।

भारत में ऑनलाइन खेलों की लागत अधिक होने की संभावना है क्योंकि जीएसटी वृद्धि प्रस्तावित है: सभी विवरण

एसपी के आदेश पर केस

कंवर सिंह ने 22 नवंबर को महेंद्रगढ़ में एसपी विक्रांत भूषण के सम्मुख उपस्थित हो कर उसके साथ हुई मारपीट बारे अपनी शिकायत दी, शिकायत में पुलिस कर्मचारी के खिलाफ आरोप थे, पुलिस अधीक्षक द्वारा तुरंत शिकायत में आरोप के आधार पर पुलिस कर्मचारी के खिलाफ आम नागरिक की तरह ही एफआईआर दर्ज करने के लिए संबंधित थाना में आदेश दिए और पुलिस कर्मचारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस द्वारा मामले में जांच की जा रही है।

 

खबरें और भी हैं…

.

सिवानी में पटाखों में ब्लास्ट से एक की मौत: मरने वाला नगरपालिका कर्मचारी; तहसीलदार समेत 8 घायल, पटाखे नष्ट करते समय हादसा
.

Advertisement