भिवानी में टीचरों के सम्मान में छात्र रैली: वैश्य मॉडल स्कूल के 1500 विद्यार्थियों ने दिया गुरु की महत्ता का संदेश

28
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के भिवानी में शिक्षक दिवस पर सैकड़ों बच्चों ने सोमवार को जागरूकता रैली निकाली। बच्चों ने अपने टीचर्स के सम्मान में लाजवाब कविताएं सुनाई और कहा कि बिना गुरू ज्ञान नहीं। इसलिए गुरू का दर्जा मां- बाप से भी बड़ा होकर भगवान के बराबर है।

कुरुक्षेत्र में बदमाशों की गुंडागर्दी: 3 युवकों को कुचलने का प्रयास; गोलियां चलाईं; अस्पताल में छिपा तो वहां पहुंच कर फायरिंग की

बच्चों ने जागरूकता रैली में टीचरों के सम्मान में स्लोगल लिखे थे।

बच्चों ने जागरूकता रैली में टीचरों के सम्मान में स्लोगल लिखे थे।

जागरूकता रैली में भिवानी के वैश्य मॉडल स्कूल के क़रीब 1500 बच्चों ने भाग लिया। रैली दिनोद गेट से होते हुये घंटा घर चौक, हांसी गेट से चौधरी सुरेन्द्र सिंह पार्क तक निकाली गई। इस दौरान बच्चों ने अपने टीचर्स के सम्मान में स्लोगन लिखे बोर्ड हाथों में पकड़े थे। आगे बैंड बाजा टीम चल रही थी और लोगों को टीचर्स का सम्मान करने के लिए जागरूक किया जा रहा था।

जागरूकता रैली में शामिल बच्चे।

जागरूकता रैली में शामिल बच्चे।

जागरूक रैली के माध्यम से मिले सम्मान पर शिक्षक काफ़ी गर्व महसूस कर रहे थे। शिक्षकों ने कहा कि समय के साथ शिक्षकों सम्मान घटा है, जिससे समाज दिशाहीन हुआ है। उन्होंने कहा कि शिक्षक का जितना सम्मान होगा, शिक्षा और देश की इतनी तरक़्क़ी होगी। कहते हैं गुरू बिन ज्ञान नहीं। बिना गुरू के कोई भी व्यक्ति ना तो अच्छा इंसान बन सकता और ना देश तरक्की कर सकता। यही कारण है कि एक शिक्षक को माँ बाप से भी बढ़ कर भगवान के बराबर का दर्जा दिया गया है।

 

खबरें और भी हैं…

.
पानीपत में खेतों में मिला युवक का शव: मुंह से निकल रहा था खून; मां ने जताई हत्या की आशंका; 2 माह बाद शादी थी

.

Advertisement