प्रत्येक मंदिर व हिंदू घर में लगे गुरू तेग बहादुर जी का चित्र – बचन सिंह आर्य

42
Advertisement

 

कहा – धर्म और मानवता की रक्षा के लिए हंसते-हंंसते दिया बलिदान

 

एस• के• मित्तल       

सफीदों, प्रत्येक मंदिर व हिंदू घर में गुरू तेग बहादुर का चित्र लगना चाहिए ताकि आने वाली पीढिय़ां उनके बलिदान से प्रेरणा ले सके। यह बात सफीदों विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रहे पूर्व मंत्री बचन सिंह आर्य ने कही। वे वीरवार को नगर के आर्य सदन में गुरू तेग बहादुर जी के बलिदान दिवस पर उनके जीवन चरित्र पर प्रकाश डाल रहे थे।

डेरा प्रेमियों की धार्मिक भावनाएं आहत मामला: आज होगी सुनवाई; आरोपी मोहित इंसा की जमानत याचिका पर अदालत सुनाएगी फैसला

उन्होंने बताया कि उन्होंने खुद अपने निवास व कार्यालय में गुरू तेग बहादुर जी का चित्र लगाया हुआ है। उन्होंने कहा कि हिंद दी चादर कहलाए जाने वाले नौवें गुरू तेग बहादुर जी ने धर्म और मानवता की रक्षा करते हुए हंसते-हंंसते अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। विश्व के इतिहास में श्री गुरु तेग बहादुर का स्थान अद्वितीय है। उन्होंने हमेशा यही संदेश दिया कि किसी भी इंसान को न तो डराना चाहिए और ना ही खुद डरना चाहिए। उन्होंने धर्म प्रसार करते हुए अंधविश्वास की आलोचना करके समाज में नए आदर्श स्थापित किए।

हरियाणा के गन्ना किसानों को झटका: पूर्व CM हुड्‌डा का दावा- वजन कटौती में 2% प्रति क्विंटल बढोतरी की; सरकार का कोई जवाब नहीं

उनके द्वारा रचित 15 पद्य भी गुरुग्रंथ साहिब में शामिल है। दिल्ली में भी गुरु तेग बहादुर जी की याद में गुरुद्वारा शीशगंज साहिब बना हुआ है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की मनोहर सरकार सभी धर्मों के संतों व गुरूओं की जयंतियां राज्य स्तर पर मनाकर उन्हे सम्मान दे रही है। उन्होंने कहा कि संत, महात्मा व गुरू हम सबकी सांझी विरासत है। गुरुओं ने मानवता की भलाई के लिए जो कुर्बानियां दी, उस बलिदान की गौरवगाथा युवा पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए सरकार इस प्रकार के आयोजन कर रही है।

ठेकों पर धमकी देने व बस स्टैंड नरवाना ठेके पर गोली चलने का मुख्य साजिशकर्ता काबू

उन्होंने कहा कि गुरु तेगबहादुर जी ने आस्था, विश्वास और अधिकारों की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया इसलिए उन्हें सम्मान के साथ हिंद दी चादर कहा जाता है। गुरु तेग बहादुर जी का बलिदान हम सबके लिए प्रेरणादायी है।

Advertisement