दीप्ती गैंग ने किया संदीप बिश्नोई का मर्डर: कमेंट; संदीप गोदारा का बदला लिया- बंबीहा ग्रुप से कोई लेना देना नहीं

29
Quiz banner
Advertisement

 

 

राजस्थान के नगौर में गैंगस्टर संदीप बिश्नोई का मर्डर दीप्ती गैंग ने किया है। दीप्ती यादव ने फेसबुक पर पोस्ट डालकर इस मर्डर की जिम्मेदारी ली। दीप्ती यादव ने कहा कि हमारा बंबीहा ग्रुप से कोई लेना देना नहीं है। दीप्ती यादव ने संदीप का मर्डर करके संदीप गोदारा का बदला लिया है।

नेशनल गेम में करनाल के 5 खिलाड़ियों का हुआ चयन: हरियाणा में नहीं बना वेलोड्रोम ट्रैक तो पंजाब के लगा कैंप, जिले से 4 लड़कियां व 1 लड़का हुआ सिलेक्ट

दीप्ती यादव ने अपने फेसबुक एकाउंट पर लिखा कि भोलेनाथ का अंश हूं। श्याम बाबा शहीद बाबा का भक्त हूं। कृष्ण का वंशज हूं। दुश्मनों का अंत हूं। ये जो संदीप सेठी का अंजाम हुआ है, ये हमारे भाई संदीप गोदारा और सुनील रेडू के जीजा संजय का और उन निर्दोष पुलिस कांस्टेबल का बदला हैं। हमारा बंबीहा ग्रुप से कोई लेना- देना नहीं है और ना ही किसी और गैंग से लेना- देना है। ये हमारा निजी मामला है और ना ही हमारा किसी और गैंग से संपर्क है।

इसका काम तमाम तो कर दिया, अब उन कुत्तों की बारी है जो गोदारा भाई के मर्डर में इनके साथ थे। सोशल मीडिया पर दीप्ती यादव ने तीन फोटो शेयर की है। जिसमें दो के चेहरे ब्लर किए हुए है। नीचे मेज पर काफी मात्रा में हथियार पड़े हैं। हालांकि पहले इस हत्याकांड को अंजाम देने की जिम्मेदारी बंबीहा गैंग ने ली थी।

दीप्ती यादव ने सोशल मीडिया पर ली जिम्मेदारी

दीप्ती यादव ने सोशल मीडिया पर ली जिम्मेदारी

हिसार में दाखिल है धर्मबीर और रवि

राजस्थान के नागौर में कोर्ट पर पेशी भुगतने गए संदीप बिश्नोई उर्फ संदीप सेठी के मर्डर में उसके दो साथ धर्मबीर और रवि भी घायल हो गए। एक के पेट और दूसरे के पैर में गोली लगी थी। दोनों का हिसार के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। दोनों को प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। दोनों के बाजू पर गोली लगी है। अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। संदीप का साथी धर्मवीर लाडवा का रहने वाला है। जबकि रवि हिसार के भ्याणा खेड़ा गांव का रहने वाला है। रवि ने इस मर्डर के पीछे दीप्ती गैंग का हाथ होना बताया है।

रेलवे में नौकरी का झांसा दे 9 लाख हड़पे: फतेहबाद के युवक को डाक से भेजा फर्जी जॉइनिंग लेटर; केस दर्ज

संदीप गोदारा था दीप्ती का दोस्त

संदीप गोदारा दीप्ती का दोस्त था। वर्ष 2015 को संदीप और उसके साथियों ने झीड़ी गांव में सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ रहे संदीप गोदारा की हत्या कर दी थी। तब से संदीप बिश्नोई फरार था। इसके बाद वह राजस्थान में भाग गया और 2017 में जोधपुर पुलिस ने संदीप बिश्नोई को उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया था।

सोमवार को संदीप को मारी थी गोलियां

राजस्थान की नागौर कोर्ट परिसर में सोमवार को दिन दिहाड़े पुलिस के सामने ही शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप बिश्नोई को गोलियां मार दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। वहीं उसके दो साथी धर्मवीर और रवि भी घायल हो गए। मर्डर का सीसीटीवी भी वायरल हुआ है। बाइक पर आए शूटर्स ने उसे गोलियां से भून दिया। शूटर्स हरियाणा के बताए जा रहे हैं।

हिसार के मंगाली गांव का रहने वाला था संदीप

संदीप बिश्नोई हरियाणा के मंगाली गांव का रहने वाला था। उसके पिता कृष्ण हिसार में डेयरी का काम करते थे। पिता के साथ दुर्व्यवहार होने के कारण पहली बार संदीप बिश्नोई ने अपराध की दुनिया में कदम रखा। उसे पर हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान में 41 से ज्यादा मुकदमें दर्ज है। हिसार में झीड़ी गांव में सरपंच पद के उम्मीदवार संदीप गोदारा के मर्डर मामले में डेढ़ साल बाद संदीप बिश्नोई और उसका साथी राजस्थान पुलिस के हत्थे चढ़ गया था। संदीप की दीप्ति गैंग के साथ गैंगवार चल रही थी।

 

खबरें और भी हैं…

.पिहोवा के सरस्वती घाट पर मिला शव: नहीं हुई पहचान, लोगों बोले- कई दिन से बीमारी की हालत में घूम रहा था

.

Advertisement