जींद में 5वें दिन किसानों-प्रशासन में सहमति: बद्दोवाल टोल से उठाएंगे किसान का शव; DC का आश्वासन- परिवार को नौकरी, केस वापस होगा

26
Advertisement

 

हरियाणा के जींद के गांव बडनपुर में पंचायती जमीन से कब्जा हटवाने की कार्रवाई के दौरान किसान इंद्र सिंह की मौत के बाद पांचवें दिन प्रशासन तथा धरना कमेटी के बीच वार्ता सफल रही और परिजन तथा किसान शव को बद्दोवाल टोल से उठाने को राजी हो गए। गुरुवार को डीसी डा. मनोज कुमार ने धरना कमेटी से बातचीत की और उनकी समस्याओं तथा मांगों को सुना। जिस पर किसान बद्दोवाल टोल से शव उठाने को राजी हो गए।

सिरसा में रक्तदान शिविर पर छापा: गांव बाहियां में बिना परमिशन के लगाया कैंप; स्वास्थ्य विभाग ने बुलाई पुलिस, 2 गिरफ्तार

ये थी किसानों की मांग

गौरतलब है कि गांव बडनपुर निवासी किसान इंद्र सिंह द्वारा पांच दिन पहले कब्जा कार्रवाई के दौरान जहरीला पदार्थ निगल लिया गया था। जिसकी बाद में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। परिजन मृतक के शव को लेकर बद्दोवाल टोल पर बैठ गए थे और बीडीपीओ, ग्राम सचिव, बोली देने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई, 50 लाख रुपए मुआवजा, सदस्य को सरकारी नौकरी, जमीन की मालकीयत दिए जाने की मांग करने लगे थे।

तब से लेकर लगातार प्रशासनिक अधिकारियों व धरना कमेटी के बीच लगातार बातचीत हो रही थी और हर बार बेनतीजा रह रही थी। जिस पर परिजनों ने वीरवार को बद्दोवाल व खटकड़ टोल को फ्री करवाने का ऐलान किया था।

कंडेला खाप के प्रधान ओमप्रकाश कंडेला ने बताया कि बुधवार को अधिकारियों के साथ काफी देर तक बैठक हुई लेकिन मांगों को लेकर बात सिरे नहीं चढ़ पाई थी। जिस पर वीरवार से बद्दोवाल व खटकड़ टोल को फ्री करवाने का निर्णय लिया गया था।

मांगों पर ये बनी सहमति

गुरुवार को डीसी डा. मनोज कुमार अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ पहुंचे और बातचीत की। जिसमें सहमति बनी की मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता का मुआवजा दिया जाएगा व 2 नौकरी डीसी रेट पर योग्यता के हिसाब से दी जाएंगी। मामले की गंभीरता से जांच करवाई जाएगी ओर जो भी दोषी पाया गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। जब तक कोर्ट का फैसला नहीं आता तब तक 8 एकड़ पंचायती जमीन बडनपुर पर कब्जा मृतक के परिवार का रहेगा और जो कब्जा कार्यवाही के दौरान बीडीपीओ की शिकायत पर मृतक परिवार के लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था वह वापस लिया जाएगा।

 

खबरें और भी हैं…

.
मानेसर में भूमि अधिग्रहण का विरोध: सीएम से वार्ता विफल होने से गुस्साए किसानों ने सामूहिक इच्छा मृत्यु की मांग को लेकर सचिवालय का किया घेराव

.

Advertisement