करनाल मीनाक्षी अस्पताल फायरिंग मामला: आरोपी कौशल चौधरी का तीन रिमांड आज खत्म, पूछताछ में आरोपी ने किए कई खुलासे

35
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के करनाल के असंध स्थित मीनाक्षी अस्पताल में बीती 8 जुलाई को हुई फायरिंग मामले में दिल्ली तिहाड़ जेल ेस प्रोडक्शन वांरट पर लाए गए आरोपी कौशल चौधरी का आज तीन दिन का रिमांड खत्म होगा। असंध पुलिस आज दोपहर बाद आरोपी कौशल चौधरी को अदालत में पेश करेगी।

करनाल मीनाक्षी अस्पताल फायरिंग मामला: आरोपी कौशल चौधरी का तीन रिमांड आज खत्म, पूछताछ में आरोपी ने किए कई खुलासे

आरोपी ने किए कई खुलासे

सुत्रों की मानें तो तीन दिन के रिमांड पर लिए गाए आरोपी कौशल चौधरी ने तीन दिन के रिमांड पर कई अहम खुलासे भी किए है। आरोपी यह भी खुलासा किया है। जिन आरोपियों ने इस वारदात को अंजाम दिया है। वह उसी के गैंग के मेंबर थे। आरोपी दिलेर कोटिया भी उसी के गैंग का मेंबर था। इसके अलावा भी आरोपी ने कई खुलासे किए है। जिनका खुलासा आज असंध पुलिस कर सकती है।

मीनाक्षी अस्पताल फायरिंग मामले की कौशल चौधरी गैंग ने ली थी जिम्मेवारी

​​​​​​​बता दें कि बीती 8 जुलाई को असंध स्थित मीनाक्षी अस्पताल पर सुबह करीब साढ़े 10 बजे बुलेट पर सवार होकर दो नकाबपोश बदमाशों द्वारा 15 से 16 राउंड फायर किए गए थे। इस वारदात के 1 घंटे के बाद ही इसकी जिम्मेदारी सालवन रोड स्थित डेरा निवासी दिलेर कोटिया (कौशल चौधरी गैंग) द्वारा फेसबुक पर पोस्ट डालकर ली गई थी, जोकि आजकल अमेरिका में रह रहा है।

आरोपी को तीन दिन पहले भारी पुलिस बल के साथ किया था अदालत में पेश

​​​​​​​बतादे कि आरोपी कौशल चौधरी को बीती 20 अगस्त को पुलिस ने दोपहर को अदालत में पेश किया थ। इस दौरान भारी पुलिस बल कोर्ट परिसर के बाहर मौजूद रहा। करीब चार घंटे तक आरोपी अदालत में रहा। शाम को पुलिस आरोपी कौशल चौधरी को लेकर बाहर आई थी, आरोपी को उस समय तीन दिन के रिमांड पर लिया था। आरोपी का आज तीन दिन का रिमांड खत्म हो रहा है।\

बॉलीवॉल प्रतियोगिता में भारत की टीम ने जीता कांस्य पदक: 28, 29 अगस्त को भारत वापसी करेगी भारत की टीम, ईरान में घाया करनाल का छोरा

अब तक इन आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

​​​​​​​मामले में बीती 12 जुलाई को चार आरोपी हरमन निवासी सफीदों जिला जींद, ओमवीर निवासी सालवन जिला करनाल, दलवीर सिंह निवासी सफीदों जिला जींद और बलजिंद्र सिंह निवासी जलमाना जिला करनाल को गिरफ्तार किया था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी सोनू शर्मा उर्फ गटवा निवासी बिघाना जिला जींद और महिपाल मीणा निवासी गांव नसबारा जिला भरतपुर राजस्थान को गिरफ्तार किया था। पुलिस की टीम ने दो शॉर्प शूटरों मोहित उर्फ मोहिता निवासी सुखवाबाद थाना जिला फिरोजाबाद उत्तर प्रदेश हाल निवासी पुरानी आबादी वार्ड नंबर 16 गांधी बस्ती गंगानगर राजस्थान व सुमित उर्फ रामेश उर्फ सानू निवासी फर्रुखाबाद हाल निवासी रामपुर थाना हाथरस जिला उत्तर प्रदेश को जींद के निरजन और‌ पिंडारा गांव के बीच रात को साढ़े 11 बजे मुठभेड़ के बाद काबू किया था। इसमें शूटर मोहित की टांग में गोली लगी ‌थी, जबकि सुमित के दाहिने हाथ में गोली लगी। दोनों ने खुद को कौशल चौधरी गैंग के सदस्य बताया था।

वर्जन

​​​​​​​असंध थाना प्रभारी बलजीत सिंह ने बताया कि पुलिस शनिवार दोपहर को आरोपी कौशल चौधरी को तिहाड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी और उसे अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया था। आज आरोपी का तीन दिन का रिमांड पूरा हो चुका है। दोपहर बाद आरोपी को दोबारा अदालत में पेश किया जाएगा।

 

खबरें और भी हैं…

.
अंबाला में संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत: ससुराल पक्ष पर प्रताड़ना के आरोप; अंतिम संस्कार के लिए शव अपने साथ ले गए परिजन

.

Advertisement