धरने के बीच यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष से भिड़े सिद्धू, ‘गद्दार’ के नाम को लेकर जमकर हुई बहस

नई दिल्ली, 7 अप्रैल: पिछले कई सालों से पंजाब कांग्रेस में आंतरिक कलह जारी है। जिस वजह से वहां की सत्ता भी हाथ से चली गई, लेकिन कांग्रेस नेता अभी भी इससे सबक नहीं ले रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस ने गुरुवार को बढ़ती हुई महंगाई के खिलाफ चंडीगढ़ के सेक्टर 15 में प्रदर्शन किया। ये प्रदर्शन शांतिपूर्वक चल रहा था, तभी पूर्व पीसीसी चीफ नवजोत सिंह सिद्धू ने बोलना शुरू किया और कुछ देर बाद वो यूथ कांग्रेस के प्रदेश प्रधान बरिंदर ढिल्लों से भिड़ गए।

दरअसल नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं पर बेईमानी करने का आरोप लगाया। इस पर ढिल्लों अपनी जगह पर खड़े हुए और सिद्धू को रोक दिया। उन्होंने कहा कि आप जो कुछ भी यहां बोल रहे हैं वो सही नहीं है। पार्टी में कुछ काली भेड़ें (गद्दार) हैं, लेकिन इसके लिए सभी कार्यकर्ताओं को दोष देना सही नहीं है। ढिल्लों ने तो यहां तक कह दिया कि सिद्धू ये साबित करने की कोशिश कर रहे कि वो ही पार्टी में एकमात्र ईमानदार चेहरा हैं और बाकी सब बेईमान हैं।
इसके बाद भी बरिंदर ढिल्लों नहीं रुके, उन्होंने सिद्धू से पार्टी के एक भी गद्दार का नाम बताने को कहा। इस पर सिद्धू ने कहा कि वो किसी का नाम नहीं लेंगे और फिर संबोधन छोड़कर चले गए। वहीं इस आपसी झगड़े की वजह से कांग्रेस का धरना-प्रदर्शन पूरी तरह से प्लॉप रहा।

पंजाब कांग्रेस के नए अध्यक्ष की दौड़ के बीच सिद्धू कर रहे शक्ति प्रदर्शन, पार्टी नहीं ले पा रही फ़ैसला

चन्नी का नाम लिए बिना किया हमला

वहीं सिद्धू ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भाषणबाजी से कुछ भी नहीं होने वाला है। वो ईमानदार लोगों के साथ खड़े हैं। जिनके घर से पैसे निकले थे, उनके साथ सिद्धू नहीं खड़ा होगा। सिद्धू ने संबोधन में किसी का नाम तो नहीं लिया लेकिन उनका ये इशारा पूर्व सीएम चन्नी की ओर था, क्योंकि उनके रिश्तेदार के घर छापे में करोड़ों रुपये बरामद हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!