27 फरवरी से एक मार्च तक जिला में चलाया जाएगा राष्ट्रीय प्लस पोलियो अभियान – डीसी डॉ मनोज कुमार

106
Advertisement
एस• के• मित्तल
जींद,   भावी पीढ़ी को पोलियो मुक्त रखने के लिए राष्ट्रव्यापी पल्स पोलियो अभियान के तहत 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को एक साथ पोलियो खुराक पिलाना एक मात्र विकल्प है। किसी भी सूरत में इस अभियान के तहत कोई भी पात्र बच्चा इस दवा के सेवन से वंचित नहीं रहना चाहिए। यह निर्देश उपायुक्त डॉ मनोज कुमार ने लघु सचिवालय के सभागार में जिला टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता करते हुए स्वास्थ्य विभाग व सम्बंधित अधिकारियों को दिये। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त साहिल गुप्ता, सफीदों के एसडीएम डॉ आनंद कुमार शर्मा आईएएस, जींद के एसडीएम डॉ वेदप्रकाश बैनिवाल, नरवाना के एसडीएम सुरेन्द्र सिंह, नगराधीश अमित कुमार, सीएमओ मंजू कादयान, डॉ नवनीत सिंह समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। उपायुक्त ने कहा कि जिलाभर में आगामी 27 फरवरी से एक मार्च तक पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। जिला में कोई भी बच्चा पोलियो ड्राप्स से वंचित न रहे, इसके लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया जाए। इसके अलावा सभी विभाग पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने में सहयोग करें। विशेषकर आंगनवाड़ी वर्कर व पंचायत विभाग के कर्मचारियों के सहयोग से यह सुनिश्चित करें कि 0 से पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाई जाए। उन्होंने कहा कि पोलियो जैसी भंयकर बीमारी का शिकार व्यक्ति न केवल अपने आप को असहाय महसूस करता है बल्कि सामान्य जीवन व्यतित करने से भी वचिंत रहता है। बैठक में उपायुक्त ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए जिला में चलाए जाने वाले वैक्सीनेशन प्रोग्राम, टीबी फोरम, प्लस पोलियो टीकाकरण बारे दिशा-निर्देश दिए गए। पल्स पोलियो अभियान की सफलता के लिए मीडिया, सोशल मीडिया व मुनादी आदि से प्रचार-प्रसार किया जाए। इसके अलावा पोलिया के लिए बनाए गए बूथों पर स्वच्छता व कोविड-19 की हिदायतों का विशेष ध्यान रखा जाए। बच्चे को पोलिया की खुराक देते समय भी हिदायतों की पालना करें। उन्होंने निर्देश दिए कि अभियान के तहत स्लम एरिया व हाई रिस्क एरिया (ईंट भट्ठा और घुमंतू आदि) पर विशेष अधिक ध्यान दें । उन्होंने पशुपालन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि मुर्गा फार्म या हैचरी में शतप्रतिशत पात्र बच्चों को पोलियों ड्राप्स की डोज दिलवाना सुनिश्चित करें। बैठक में जिला चिक्त्सिा अधिकारी मंजू कादयान ने उपायुक्त को आश्वासन दिलाया कि जिला के शतप्रतिशत बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाई जाने का जो लक्ष्य है, उसे पूरा किया जाएगा।
यह भी देखें:-

सफीदों बस स्टैंड पर प्राइवेट बस वालों की दादागिरी… रोडवेज के ड्राइवर को घसीटा… देखिए लाइव रिपोर्ट…

सफीदों बस स्टैंड पर प्राइवेट बस वालों की दादागिरी… रोडवेज के ड्राइवर को घसीटा… देखिए लाइव रिपोर्ट

 

पल्स पोलियो अभियान के लिए जिला में बनाए 784 बूथ : सिविल सर्जन मंजू कादयान ने बताया कि प्लस पोलियो के अभियान में  जिले में 784 बूथ बनाए गए हैं जिसमें एक लाख 38 हजार 353 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलायी जाएगी। इस कार्य को सुचारु रुप से करने के लिए जिला में 166 सुपरवाइजर व 3०85 वैक्सीनेशन बूथ मैंबर लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावा कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए जिला व खंड स्तर के कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। जिला में टीबी की वर्तमान स्थिति की जानकारी देते हुए डा. नवनीत ने बताया कि जिला में टीबी उन्मूलन के लिए सभी दवाइयां सरकारी अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सब-सैंटरों पर मुफ्त उपलब्ध है। इसके अलावा निक्षय पोषण योजना के तहत इलाज की अवधि के दौरान पोष्टिïक आहार लेने के लिए मरीजों को प्रतिमाह पांच सौ रुपये सीधे उनके बैंक खाते में दिए जाते हैं। टीबी के नए केस के बारे में जानकारी देने वाले नागरिक को पांच सौ रुपये प्रोत्साहन के रुपये में दी जाती है।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement