स्थानीय डीआरडीए हॉल में विश्व सामाजिक न्याय दिवस कार्यक्रम में सीजेएम सुश्री रेखा रही मुख्यातिथि

103
Advertisement

कहा – प्रत्येक नागरिक के मन में भरा हो देशभक्ति का जनून, एक दूसरे का करें सहयोग उसी का नाम है विश्व सामाजिक न्याय दिवस 

कहा – अच्छा समाज बनाने में आमजन करें सहयोग, जिससे जीवन को बेहतर बनाने के होगें अवसर प्रदान

 

एस• के• मित्तल
जींद,   स्थानीय डीआरडीए हॉल में रविवार को  विश्व सामाजिक न्याय दिवस मनाया गया। इस जागरूकता शिविर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी सुश्री रेखा ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। उन्होंने कहा कि प्रत्येक नागरिक के मन में देशभक्ति का जनून होना बहुत जरूरी है तभी हम अपने प्रदेश एवं देश को और आगे ले जा सकते हैं । उन्होंने कहा कि हमें एक- दूसरे का सहयोग करना चाहिए और जरूरतमंद सेवाएं उपलब्ध करवाना हमारी जिम्मेवारी ही नहीं बल्कि उसको आगे बढ़ाना ही हमारा कर्तव्य है उसी का नाम विश्व सामाजिक दिवस है। उन्होंने कहा कि अपने गांवों व शहरों में शिक्षा, चिकित्सा व अन्य सुविधाओं का विशेष ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अपने बच्चों में अच्छे संस्कार पैदा करने चाहिए ताकि वे आगे बढ़कर समाज के निर्माण में अहम योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि समाज बनाने में योगदान दे जहां हर किसी को बिना भेदभाव के अपना तथा ओरों का जीवन बेहतर बनाने के अवसर प्रदान हो। उन्होंने इस अवसर पर बाहरवीं कक्षा में 96.7 प्रतिशत अंक प्राप्त करने की इस उपलब्धि पर छात्र सचिन कुमार को सम्मानित भी किया। सीजेएम ने मौके पर मौजूद उनके गुरूजन मास्टर जगदीश चन्द्र का भी धन्यवाद भी किया। सीजेएम ने कहा कि विश्व सामाजिक न्याय दिवस के अवसर पर आइए हम सब मिलकर जाति-धर्म, गरीबी- अमीरी, वंश-वर्ग आदि सारे भेदभाव को भुलाकर एक स्वस्थ समाज की स्थापना करें और मानव अधिकारों का सम्मान करें। उन्होंने कहा कि किसी भी सभ्य समाज के लिए न्याय बेहद अहम होता है। न्याय समाज को कई बुराईयों और गैर-सामाजिक तत्वों से दूर रखने के साथ लोगों के नैतिक और मानवाधिकारों की रक्षा भी करता है।
यह भी देखें:-

गली में पेशाब करने से रोकने के लिए को लेकर गेट लगाने का हुआ विरोध… देखिए लाइव रिपोर्ट…

गली में पेशाब करने से रोकने के लिए को लेकर गेट लगाने का हुआ विरोध… देखिए लाइव रिपोर्ट…

समाज में फैली असमानता और भेदभाव से समाजिक न्याय की मांग और तेज हो जाती है। सामाजिक न्याय के बारें में कार्य और उस पर विचार तो बहुत पहले से शुरु हो गया था लेकिन दुर्भाग्य से अभी भी विश्व के कई लोगों के लिए सामाजिक न्याय सपना बना हुआ है। विश्व सामाजिक न्याय दिवस प्रतिवर्ष 20 फरवरी को पूरे विश्व में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि आगामी 12 मार्च को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। इस राष्ट्रीय लोक अदालत में कोई भी व्यक्ति अपना केस पैरवी के लिए रखा सकता है। उन्होंने कहा कि लोक अदालत में सभी केसों का निपटारा आपसी भाईचारे में करवाया जाता है और इसमें न किसी की जीत व न किसी की हार होती है। उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि जिसकी आय सालाना एक लाख से कम उसकी पैरवी रखने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा मुफ्त में वकील मुहैया करवाया जाता है। कोई भी व्यक्ति जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में आकर कानूनी जानकारी ले सकता है।  इस अवसर पर वरिष्ठ नागरिक एसोशियेशन के सदस्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी सरोज देवी, जिला समाज कल्याण विभाग के अनुवेशक सत्यवान, राजकुमार, सरला व विजय समेत कई विभागों के अधिकारी भी उपस्थित रहे।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement