सेक्टर 32,33 थाना का करीब 2 घंटे रहा गेट बंद: दो पुलिसकर्मियों की लगाई गेट पर ड्यूटी, हनीट्रैप से जुड़े मामले की चल रही थी जांच

29
Quiz banner
Advertisement

 

 

भारत में हनीट्रैप के जाल में कई अधिकारी और नेताओं के फंसने के मामले सामने आ चुके हैं इन मामलों में हरियाणा भी पीछे नहीं हैं ताजा मामला CM सिटी करनाल में उछल कर सामने आया है जिसमें महिला पुलिस कर्मचारी की संलिप्ता भी पाई गई है। वहीं जब मामला SP गंगाराम पूनिया के संज्ञान में आया तो पीड़ित की शिकायत पर DSP गौरव फोगाट को मामले की जांच दी। हालत उस वक्त और पेचीदा हो गए जब जांच के लिए DSP गौरव फोगाट सेक्टर 32,33 थाना पहुंचे तो हनीट्रैप का जाल बिछाने वाली आरोपी महिला अपने दो साथियों के साथ महिला पुलिस कर्मचारी के साथ बैठी थी। DSP के थाने में पहुंचते ही थाने के मुख्य द्वार को बंद कर दिया गया किसी भी बाहरी की एंट्री पर रोक लगा दी गई रात करीब 10 बजे तक थाने का गेट बंद करके रखा गया।

सेक्टर 32,33 थाना का करीब 2 घंटे रहा गेट बंद: दो पुलिसकर्मियों की लगाई गेट पर ड्यूटी, हनीट्रैप से जुड़े मामले की चल रही थी जांच

 

थाने का गेट बंद करके अंदर खड़े पुलिस कर्मी।

थाने का गेट बंद करके अंदर खड़े पुलिस कर्मी।

महिला पुलिसकर्मी का नाम सामने आने के बाद सख्त हुए SP

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पानीपत निवासी एक महिला ने करनाल के रहने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ बीती 26 सितंबर उसके साथ दुष्कर्म करने की शिकायत सेक्टर 32,33 थाना में एक महिला पुलिस कर्मी को दी थी। इसके बाद सेक्टर 32,33 थाना से महिला सब इंस्पेक्टर ने 27 सितंबर को व्यक्ति के पास फोन करके थाने में बुलाया और उसे शिकायत के बारे में बताया। लेकिन व्यक्ति 27 सितंबर को थाने जाने की बाजए सीधे करनाल रेंज के IG और करनाल SP के पास पहुंच गया। जहां पर SP गंगाराम पूनिया ने व्यक्ति की शिकायत की जांच के लिए DSP गौरव फोगाट को लगाया।

WhatsApp ने पुराने वर्जन में किया गंभीर बग का खुलासा; यहां आपको अपना ऐप अभी अपडेट करने की आवश्यकता क्यों है

देर शाम को DSP पहुंचे थाने

जानकारी के अनुसार जांच के लिए जब DSP सेक्टर 32,33 थाना पहुंचे तो महिला पुलिसकर्मी के पास हनी ट्रैप का जाल बिछाने वाली महिला अपने दो साथियों के साथ बैठी थी। जब DSP ने पूछा की आप लोग यहां पर क्यों बैठे हो तो महिला ने बताया कि उसके साथ करनाल के व्यक्ति ने करनाल बुलाकर कर दुष्कर्म किया। DSP ने महिला व उसके दोनों साथियों से पूछताछ शुरू की। DSP के अंदर जाने के कुछ देर बाद ही थाने को गेट बंद कर दिया गया और दो कर्मचारियों को गेट पर बैठा दिया ताकि कोई भी बाहरी व्यक्ति थाने के अंदर न आ सकें।

जानकारी देते थाना के SHO रामफल।

जानकारी देते थाना के SHO रामफल।

देर रात तक चलती रही पूछताछ महिला अधिवक्ता को भी बुलाया

​​​​​​​जानकारी के अनुसार शाम करीब 8 बजें DSP गौरव फोगाट थाने में पहुंचे थे। उसके बाद रात करीब 10 बजे तक थाने के गेट को बंद करके रखा गया। बाद में महिला अधिवक्ता को बुलाया गया। रात करीब 11 बजे तक महिला पुलिसकर्मी, हनीट्रैप का जाल बिछाने वाली महिला व उसके साथ दो साथियों से पूछताछ करती रही।

केंद्र का हरियाणा और पंजाब को झटका: शहीद भगत सिंह एयरपोर्ट में सिर्फ चंडीगढ़ का नाम; पंचकूला-मोहाली का जिक्र नहीं

महिला पुलिसकर्मी की संलिप्ता भी जांच के घेरे में

​​​​​​​थान में तैनात महिला पुलिसकर्मी पर सवाल इसलिए भी खड़ हो रहे है कि क्योंकि जाल बिछाने वाली महिला ने सीधी शिकायत थाने के मुंशी को न देकर महिला पुलिसकर्मी को दी। उसके बाद महिला पुलिसकर्मी ने महिला की शिकायत पर व्यक्ति को फोन किया और उसे थाने आने के लिए कहा। जबकि होना ये चाहिए था कि पहले महिला थाने के मुंशी को शिकायत देती। बाद में मुंशी किसी IO को शिकायत देता जो इस मामले की जांच करता। लेकिन महिला पुलिसकर्मी ने महिला से शिकायत लेकर सीधे व्यक्ति के पास फोन कर उसे थाने में बुला लिया। महिला पुलिसकर्मी द्वारा ऐसा करने से ही उसकी इस मामले में संलिप्ता जांच के घेरे में है।

रिश्वत के मामले में पहले गिरफ्तार हुई ASI सरिता की फाइल फोटो।

रिश्वत के मामले में पहले गिरफ्तार हुई ASI सरिता की फाइल फोटो।

बीती 28 जून इसी थाने से रिश्वत लेते महिला ASI को किया था गिरफ्तार

​​​​​​​बतादे की बीती 28 जून को भी करनाल की विजिलेंस टीम ने सेक्टर 32 33 थाने में ASI के पद पर तैनात महिला पुलिस अधिकारी सरिता को 4 लाख रुपए रिश्वत ले रही थी। सरिता ने एक दुष्कर्म के मामले में दर्ज धाराओं को कमजोर करने के लिए 8 लाख रुपए की रिश्वत की डिमांड की थी। जिसके बाद विजिलेंस ने 4 लाख रुपए की रिश्वत के साथ आरोपी महिला पुलिसकर्मी को गिरफ्तार किया था।

WhatsApp ने पुराने वर्जन में किया गंभीर बग का खुलासा; यहां आपको अपना ऐप अभी अपडेट करने की आवश्यकता क्यों है

पुलिस नहीं खोल रही राज

​​​​​​​इस मामले को लेकर व थाने का गेट बंद करने को लेकर जब सेक्टर 32,33 थाना के SHO रामफल से पूछा गया तो इन सवालों से बचते दिखाई दिए। वहीं उन्होंने इस मामले को लेकर यह जरूर बताया कि महिला से फिलहाल पूछताछ की जा रही है। महिला अधिवक्ता को बुलाया गया है। अगर किसी पुलिसकर्मी की इस मामले में संलिप्त है या नहीं इसकी जांच फिलहाल की जा रही है। पुलिस पूछताछ कर रही है। जैसे ही पूछताछ में कुछ सामने आता है तो वह जरूर बताएगें।

 

.

.

Advertisement