सिरसा नगर परिषद ने लगाई डस्टबिन चोरी, आप जिलाध्यक्ष ने कहा डस्टबीन की खरीद में हुआ घोटाला

सिरसा। सिरसा नगर परिषद द्वारा शहर को साफ सुथरा रखने के लिए विभिन्न स्थानों पर डस्टबिन लगाए गए थे। उनमें से बड़ी तादाद में डस्टबिन चोरी हो चुके हैं। डस्टबिन चोरी के संबंध में नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी संदीप मलिक ने शहर थाना व सिविल लाइन थाना में शिकायत दी है। नगर परिषद द्वारा शहर में विभिन्न स्थानों पर 600 टवीन बिन डस्टबिन लगाए थे। एक डस्टबिन सेट की कीमत करीब आठ हजार रुपये है। लोहे के स्टेंड पर लगाए डस्टबिन में गीला और सूखा कूड़ा अलग अलग डाला जाता था।

LIC सुपरहिट स्कीम! 40 की उम्र में मिलेगा 50 हजार रुपये तक पेंशन, बस करना होगा इतना निवेश..

सरकारी संपति को हुआ नुकसान

नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी ने शहर थाना सिरसा में दी शिकायत में बताया कि अज्ञात व्यक्ति शहर में से ट्वीन बिन डस्टबिन उखाड़ कर ले गया। उसने बताया कि नगरपरिषद सिरसा द्वारा न्यायालय एनजीटी व सालिड वेस्ट मेनेजमेंट रूल 2016 के तहत शहर में भिन-भिन स्थानों पर 600 ट्वीन बिन डस्टबिन लगवाए थे। वर्तमान में निरीक्षण करने के उपरांत पाया गया कि डबवाली रोड, सांगवान चौक, डबवाली रोड तनिष्क जवैल्र्स के सामने लाल बत्ती चौक, रानियां चुंगी, जगदेव सिंह चौक, सांगवान चौक रेलवे साईड के सामने, दीप होटल के सामने, गांधी कालोनी, विवेकानन्द स्कूल के सामने, रानियां रोड, तारा बाबा की कुटिया रोड, गांधी कालोनी पार्क, परशुराम चौक, आंबेडकर चौंक व अन्य स्थानों से अज्ञात व्यक्ति ने डस्टबिन उखाड़ कर फैंक दिये अथवा चोरी कर लिये। यह न्यायालय एनजीटी व सालिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल 2016 के नियमों की उल्लंघना है। इससे सरकारी संपति को नुकसान हुआ है शहर की सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई है।

डस्टबिन उखाड़ फैंके

वहीं सिविल लाइन थाना में दी शिकायत में नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि शहर में निरीक्षण के उपरांत सिविल लाइन थाना क्षेत्र में रेलवे पार्क, हुडा कांपलेक्स, जाट धर्मशाला, टाउन पार्क, सालासर धाम, लाल बत्ती चौक, सांगवान चौक, भुम्मण शाह चौक, एसडीएम हाउस के पास , न्यू हाउसिंग बोर्ड कालोनी , डीसी आफिस, ग्रीन बैल्ट, हिसार रोड , बरनाला रोड, शक्ति नगर इत्यादि स्थानों से अज्ञात व्यक्तियों द्वारा टवीन बिन डस्टबिन उखाड़ कर फैंक दिये गए अथवा चोरी कर लिये गए।

आप जिलाध्यक्ष बोले दाल में काला, डस्टबिन लगाए ही नहीं

आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार ने कहा कि नगर परिषद द्वारा शहर में डस्टबिन लगाने में बड़ा घोटाला हुआ है। उन्हाेंने आरटीआइ लगाई तो आयोग के आदेश के बाद नगर परिषद ने बताया कि उन्हाेंने 600 जगह बड़े डस्टबिन लगाए थे, जिनकी कीमत करीब आठ हजार रुपये थी। लेकिन उन डस्टबिन की लोकेशन उन्हाेंने नहीं बताई। इसके साथ ही नगर परिषद द्वारा शहर में दुकानों व घरों में 30 हजार डस्टबिन बांटने के दावे किए गए थे, जिनमें एक की कीमत 165 रुपये थी।

रोहतक में देशी कट्टे से युवक को दोस्त ने मारी गोली, हालत गंभीर, पीजीआई में भर्ती

चोरी का मामला दर्ज

बाजार में बड़े डस्टबिन करीब दो हजार रुपये में जबकि छोटे 40-50 रुपये तक मिल जाते हैं। उन्होंने बताया कि शहर में गलियों के निर्माण कार्य स्थल पर बोर्ड लगवाने व डस्टबिन घोटाले की जांच के संबंध में उन्होंने नगर परिषद के आगे 150 से अधिक दिन धरना दिया था तथा बाद में आमरन अनशन किया था। जिसके बाद अब नगर परिषद अधिकारी अपना बचाव करने के लिए सिविल लाइन व शहर थाना में चोरी के मामले दर्ज करवा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!