समय के साथ साथ जल की उपयोगिता, बिना जल कोई भी कार्य संभव नहीं – लेखाकार नरसिंह

176
Advertisement

सभी प्रतिभागियों को दिलाई जल संरक्षण की शपथ 

एस• के• मित्तल
जींद,   जल एक अनमोल धरोहर है जिसकी पूनरावर्ति नहीं हो सकती,इसलिए इसका संरक्षण जरूरी है। यह बात गांव कालता में नेहरू युवा केन्द्र द्वारा आयोजित युवाओं के एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में जल जागण अभियान के तहत मुख्य वक्ता के तौर पर पहुंचे जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग व जल एवं स्वच्छता सहायक संगठन हरियाणा के जिला सलाहकार रणधीर मताना ने कही। इस मौके पर मंच संचालन राष्टृीय युवा स्वयंसेवक पूनम देवी ने किया जबकि अन्य वक्ता के तौर पर प्रोपफेसर देवेंद्र कुमार, खंड समन्वयक दिनेश मलिक व मास्टर सुखदेव सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम में नेहरू युवा केंद्र के जिला संयोजक हरप्रीत सिंह ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया, जबकि लेखाकार नरसिंह ने सभी प्रतिभागियों को जल संरक्षण की शपथ दिलाते हुए आभार व्यक्त किया। इस मौके पर उन्होंने जल की महत्त्वता को बताते हुए कहा कि समय के साथ साथ जल की उपयोगिता बढती जा रही है। आज जल के बिना कोई भी कार्य संभव नहीं है। छोटे से छोटे कार्य से लेकर बडे कार्य सहित  सभी प्रतिदिन की गतिविधियों में जल की आवश्यकता होती है।
यह भी देखें:-
नेहा सिंह राठौर के गाने को लेकर देशी कलाकार ने धो डाला… 
इस मौके पर खंड समन्वयक दिनेश मलिक ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा चलाई जा रही योजना जल जीवन मिशन पर प्रकाश डाला और बताया कि केंद्र सरकार का लक्ष्य 2024 का है, जबकि हरियाणा सरकार यह लक्ष्य 2022 में ही हर घर में नल  से जल पहुंचाने का लक्ष्य प्राप्त कर लेगी। इसके लिए ग्रामीणों के सहयोग की आवश्यकता है। ग्रामीण अपने नलों पर टेप लगाने के साथ-साथ ऑनलाइन पेयजल बिल भरकर विभाग का सहयोग कर सकते हैं। प्रोफेसर देवेंद्र कुमार ने बताया कि जल की आवश्यकता को देखते हुए हमें छोटे से छोटे माध्यम से जल को बचाना चाहिए। इसमें बर्तन धोने व गाडी धोने सहित सभी काम शामिल है। इस मौके पर लेखाकार नरसिंह व जिला संयोजक ने हरप्रीत सिंह ने नेहरू युवा केंद्र दवारा जल संरक्षण को लेकर चलाई जाने वाली विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement