सफीदों पालिका की अनदेखी से आमजन हर रोज कर रहे मौत का साक्षातकार

147
Advertisement

नगरपालिका के खुले मेनहॉल में गिरकर मौत के शिकार नंदी को गौभक्तों ने निकलवाकर दफनाया

एस• के• मित्तल
सफीदों,   एक तरफ सफीदों नगरपालिका नगर में विकास के निरंतर दावे करती है जबकि उसके कार्यालय के ठीक पीछे खुद का बड़ा मेनहॉल जर्जर अवस्था में है। इस जर्जर मेनहॉल में गिरकर बेसहारा नंदी की मौत हो गई। इस टूटे हुए मेनहाल के कारण आमजन व वाहन चालकों को भी भारी दिक्कतों के साथ-साथ हर रोज साक्षात मौत का सामना करना पड़ता है। बता दें कि नगरपालिका के ऑफिस के बिल्कुल पीछे मेन हॉल का लेंटर काफी दिनों से टूटा हुआ है और आमजन द्वारा बार-बार कहने के बावजूद भी नगरपालिका प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं किया गया। उसका परिणाम यह हुआ कि एक बेसहारा नंदी उसमें गिरकर मर गया और सड़कर चारो ओर भयंकर बदबू फैल गई। जिसके बाद शनिवार को किसी ने गौभक्त अजय माहला को फोन करके बताया कि नगरपालिका के पीछे मेनहाल में एक नंदी पिछले एक हफ्ते से मृतावस्था में पड़ा हुआ है। गौरक्षा सेवा दल के अध्यक्ष अजय माहला गौभक्त सतीश बलाना, धममी सैनी, मनोज सैनी, अभिषेक बुरा व रिंकू जांगड़ा को लेकर मौके पर पहुंचे और करीब 1 घण्टे की बड़ी मशक्कत के बाद जेसीबी की मदद से मृत्त नंदी को मेन हाल से बाहर निकाला। उसके बाद उसे रीतिरिवाज के अनुसार दफनाया गया।
यह भी देखें:-
नगर पालिका सफीदों का मेंनहोल आम पब्लिक व गौवंश के लिए बना मौत का द्वार.. देखिए लाइव रिपोर्ट…
बता दें कि इस मार्ग पर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय स्थित है जिसमें सैंकड़ों कन्याएं अध्ययन करने के लिए आती है। इसके अलावा यहां स्थित बड़ी बस्ती में हजारों लोग निवास करते हैं तथा इसी मार्ग पर हजारों वाहनों का रोज आवागमन है। इस टूटे हुए पालिका के बड़े मेनहॉल के कारण किसी भी वक्त बड़ा हादसा घटित हो सकता है। आज तो एक बेजुबान पशु की इस गहरे मेनहॉल में गिरकर मौत हो गई लेकिन कल को कोई इंसान गिरकर हादसे का शिकार हो गया तो उसका कौन जिम्मेवार होगा। लोगों व गौभक्तों ने प्रशासन से मांग की कि इस मेनहॉल को दुरूस्त करवाया जाए तथा इसी मार्ग पर लाईट की व्यवस्था की करवाई जाए।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement