शराब ठेकेदार गौरव अग्रवाल को गोली मारने का मामला पुलिस ने भाई की शिकायत पर किया हत्या का मामला दर्ज

205
Advertisement

व्यापारी नेता राजीव जैन व महावीर कम्प्यूटर ने सफीदों पहुंचकर जताया रोष 

रंजिश से जोड़कर देखा जा रहा है सारा मामला

एस• के• मित्तल
सफीदों,     शराब ठेकेदार गौरव अग्रवाल की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने के मामले में सफीदों पुलिस ने भाई की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज किया है। पुलिस को दिए गए ब्यान में मृत्तक के भाई एडवोकेट आदिश कुमार ने कहा कि वीरवार की सांय करीब साढ़े 5 बजे उसे मोबाईल से सूचना मिली कि उसके छोटे भाई गौरव को खानसर चौंक पर अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मार दी गई है। सूचना मिलते ही मैं मौके  पर पहुंचा तो मेरे भाई को स्ट्रेचर पर लिटाया हुआ था तथा मेरा भाई खुन से लथपथ था। गंभीरावस्था को देखते हुए उसे इलाज के लिए पानीपत ले जाया गया। जहां पर डाक्टरों ने मेरे भाई को चैक करके मृत घोषित कर दिया। मेरे भाई गौरव की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मारकर बेरहमी से हत्या की गई है। ब्यान के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 34 व आमर्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर किया।
बाक्स:
सफीदों में नहीं हो पाया पोस्टमार्टम
 मृत्यु पश्चात मृत्तक गौरव अग्रवाल के शव को सफीदों के नागरिक अस्पताल में ले आया गया था और शुक्रवार सुबह शव का पोस्टमार्टम होने की बात कहीं जा रही थी। रातभर नागरिक अस्पताल में परिजनों व मिलने वालों का जमावड़ा लगा रहा। शुक्रवार सुबह लोगों की भारी भीड़ अस्पताल परिसर में जमा हो गई थी। शुक्रवार सवेरे गौरव अग्रवाल के शव का पोस्टमार्टम करने का समय हुआ तो अस्पताल की एक्स-रे मशीन खराब मिली और ना ही इसको संचालित करने के लिए रेडियोग्राफर उपलब्ध हुआ। उसके बाद आनन-फानन में शव का पोस्टमार्टम जींद में करवाने का निर्णय लिया गया। गौरव अग्रवाल के शव को जींद के नागरिक अस्पताल में ले जाया गया। जहां पर डाक्टरों के बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। शुक्रवार सांय को सफीदों शहर स्थित श्मशान घाट में शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।
यह भी सुने:-
शराब व्यापारी गौरव अग्रवाल की हत्या पर पूर्व मुख्यमंत्री मीडिया सलाहकार राजीव जैन को सुनिए…..
बाक्स:
रंजिश व शराब व्यापार से जोड़कर देखा जा रहा है मामला
इस सारे घटनाक्रम को किसी रंजिश व शराब व्यापार से जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस भी रंजिश व शराब के व्यापार के एंगल को जोड़कर इस मामले की जांच कर रही है। पुलिस रात से ही घटनास्थल व आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फूटेज निकालकर उनकी गहनता से जांच में जुटी है। पुलिस फूटेज से बदमाशों के चेहरों के फोटो निकालकर उनकी तलाश में लगी हुई है। हालांकि सीसीटीवी कैमरों में पूरा घटनाक्रम कैद हो गया है। जिसमें कई युवक गोली चलाकर भागते हुए दिखाई दे रहे है। अहम बात यह भी है कि घटना को अंजाम देने वाले युवक धड़ल्ले से आए थे और उन्होंने अपने मुंह पर किसी प्रकार का नकाब आदि नहीं पहन रखा था। बदमाश सरेआम घटना को अंजाम देकर आराम से मौके से फरार हो गए। सूत्रोंं के अनुसार घटना को अंजाम देने वाले बदमाश सफीदों क्षेत्र के आसपास के किसी गांव के बताए जाते हैं। पुलिस कई संदिग्ध लोगों से अपने स्तर पर पूछताछ कर रही है। फिलहाल पुलिस इस मामले में कुछ कहने से बच रही है।
बाक्स:
व्यापारी नेता राजीव जैन व महावीर कम्प्यूटर सफीदों पहुंचे
शराब ठेकेदार गौरव अग्रवाल की हत्या का समाचार पाकर हरियाणा प्रदेश वैश्य महासम्मेलन के अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन व हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष महावीर कम्प्यूटर पीडि़त परिवार के पास पहुंचे और मृत्तक के पिता अनिल अग्रवाल व भाई एडवोकेट आदिश अग्रवाल को ढांढस बंधाया। अपने संबोधन में राजीव जैन ने कहा कि गौरव अग्रवाल के जघन्य हत्याकांड की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। उन्होंने इस मामले को सरकार व उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाकर बदमाशों को जल्द से जल्द पकडऩे की मांग की है। वे कुछ दिन पूर्व सफीदों में आए थे। उस दौरान यहां के व्यापारियों ने यहां पर व्यापक क्राइम के हालातों से अवगत करवाया था। उन्होंने व्यापारियों से हुई सारी बातचीत का ब्यौरा मुख्यमंत्री मनोहर लाल को दिया है। निश्चित तौर पर हरियाणा सरकार बदमाश और बदमाशी का इलाज करेगी। गौरव अग्रवाल के हत्यारे निश्चित तौर पर पकड़े जाएंगे और उन्हे कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।
यह भी सुने:-
व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष महावीर कंप्यूटर ने शराब व्यापारी गौरव अग्रवाल की हत्या पर सुनिए…
वहीं हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष महावीर कम्प्यूटर ने कहा कि प्रदेश में हर रोज कहीं ना कहीं व्यापारियों की हत्याएं हो रही हैं लेकिन सरकार मूकदर्शक बनकर सबकुछ देख रही है। हर रोज हो रहे हत्याकांडो के कारण प्रदेश के व्यापारियों में भारी रोष व्याप्त है। व्यापारी अब यह समझ चुका है कि अपराधियों को कहीं ना कहीं नेताओं का संरक्षण प्राप्त है। प्रदेश के व्यापारी को जान माल की सुरक्षा की दरकार है। अगर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल यह कह दें कि व्यापारियों की सुरक्षा उनके बस की बात नहीं है तो व्यापारी इस प्रदेश को छोड़कर यहां से कहीं ओर पलायन कर जाएगा। उन्होंने सरकार से मांग की कि गौरव अग्रवाल के हत्यारों को तत्काल पकड़ा जाए। सरकार को चाहिए कि वह बदमाशों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेकर उनका पक्का इलाज करें अन्यथा सरकार को आने वाले समय में गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। इस मौके पर पूर्व पालिका प्रधान राकेश जैन, पूर्व पालिका प्रधान रामेश्वर दास गुप्ता, पूर्व पालिका प्रधान ईश्वर कौशिक, अग्रवाल वैश्य समाज के प्रधान प्रवीन मित्तल, व्यापार मंडल के प्रधान विजय गर्ग, कच्चा आढ़ती संघ के पूर्व प्रधान संजय मित्तल, तीर्थराज गर्ग, विकास गुप्ता, मदन गोयल, हिमलेश जैन, अखिल गुप्ता, वरूण गोयल व सुमित गर्ग मौजूद थे।
Advertisement