राइट टू सर्विस एक्ट की पालना सुनिश्चित करें अधिकारी : डीसी नरेश नरवाल

143
Advertisement

कहा – कि जिला में प्रभावी रूप से क्रियांवित हो रहा है राइट टू सर्विस एक्ट
कहा – आमजन के आवेदनों का होगा तय समय सीमा में समाधान 

एस• के• मित्तल

जींद,       जिला प्रशासन में राइट टू सर्विस एक्ट की पालना प्रभावी रूप से सुनिश्चित की जा रही है। जिला के सभी विभागीय कार्यालय जो जनसेवा को समर्पित हो अपनी जिम्मेवारी निभा रहे हैं वे विभाग पूरी संजीदगी के साथ राइट टू सर्विस एक्ट के अनुरूप सरकारी सेवाओं को तय समय सीमा में आमजन तक पहुंचा रहे हैं। सर्विस एक्ट को प्रभावी रूप से आमजन के लिए क्रियांवित करने में विभागाध्यक्ष पूरी गंभीरता से पालना सुनिश्चित करें इसके लिए सभी को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। डीसी नरेश नरवाल ने कहा कि सभी विभाग अपनी सेवाओं को राइट टू सर्विस रूल के अनुसार कार्य पूरा करें। जिस कार्य के लिए जो समय सरकार ने राइट टू सर्विस एक्ट में सुनिश्चित किया है, उससे अधिक वक्त किसी कार्य को पूरा करने में नहीं लगना चाहिए और निर्धारित समयावधि में कार्य पूर्ण करते हुए आवेदकों को राहत पहुंचाई जाए। डीसी ने कहा कि अंत्योदय सरल केंद्र के माध्यम से विभिन्न विभागों की पांच सौ से अधिक सेवाएं ऑनलाईन चलाई जा रही हैं, ऐसे में पूरी पारदर्शिता के साथ तय सीमा में कार्यपूर्ण करने में प्रशासनिक स्तर पर सहयोग सुनिश्चित किया जा रहा है।

 

यह भी देखें:-

शिक्षण संस्थान खुलवाने के लिए सफीदों के अग्रसेन चौक पुराना बस स्टैंड पर अखिल विद्यार्थी संगठन ने क्या किया… देखिये लाइव…

शिक्षण संस्थान खुलवाने के लिए सफीदों के अग्रसेन चौक पुराना बस स्टैंड पर अखिल विद्यार्थी संगठन ने क्या किया… देखिये लाइव…

उन्होंने बताया कि ड्राइविंग लाईसेंस बनाए जाने, वाहनों की आरसी, परमिट, लाईसेंस नवीनीकरण, रिहायशी प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड बनाने आदि अनेक सरकारी सेवाएं सरकार द्वारा ऑनलाईन आवेदन पर पूरी की जा रही हैं। अब उपभोक्ता को उसके मोबाइल फोन पर ही कार्य के बारे में सूचना दे दी जाती है। उन्होंने कहा कि राइट टू सर्विस एक्ट के अनुरूप ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट, जिला समाज कल्याण विभाग, बिजली वितरण निगम, महिला एवं बाल विकास विभाग, अनुसूचित एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, कृषि विभाग, पुलिस और शहरी निकाय कार्यालय भी जनसेवा कार्यों में अपनी सक्रिय भागीदारी निरंतर निभा रहे हैं। वहीं खाद्य एवं  पूर्ति, रोजगार विभाग, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, मत्स्य पालन, वन विभाग और जिला सैनिक बोर्ड के माध्यम से भी राइट टू सर्विस एक्ट से योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राइट टू सर्विस की पालना करते हुए जिला प्रशासन का हर एक सरकारी विभाग तय समय सीमा में ही आए हुए आवेदनों का निपटारा करेें।

Advertisement