यूक्रेन ने रूस से आयात पर लगाया प्रतिबंध, कहा- दुश्मन के बजट को नहीं देंगे फंड

136
Advertisement

मेलबर्न, रॉयटर्स। यूक्रेन ने रूस से सभी आयातों पर प्रतिबंध लगा दिया है जबकि युद्ध से पहले रूस उसके प्रमुख व्यापारिक भागीदारों में से एक था। यूक्रेन, रूस से लगभग 6 बिलियन डॉलर का वार्षिक आयात करता था। रूस से सभी आयातों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा के साथ ही यूक्रेन ने अन्य देशों से मॉस्को के खिलाफ कठोर आर्थिक प्रतिबंधों का पालन करने और उन्हें लागू करने का आह्वान किया है।

SEE MORE:

यूक्रेन की मंत्री यूलिया सिव्रीडेंको ने शनिवार को अपने फेसबुक पेज पर लिखा, “आज हमने आधिकारिक तौर पर आक्रामक राज्य के साथ माल के व्यापार को पूरी तरह से समाप्त करने की घोषणा की।” उन्होंने कहा, “अब से, किसी भी रूसी संघ के उत्पादों को हमारे देश में आयात नहीं किया जा सकेगा।”

गौरतलब है कि 24 फरवरी को यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की शुरुआत के बाद से दोनों पड़ोसी देशों के बीच वस्तुओं और सेवाओं का आदान-प्रदान लगभग न के बराबर रहा है लेकिन शनिवार को यूक्रेन द्वारा उठाए गए इस कदम ने रूस से आयात रोकने का एक कानून बना दिया।

यूलिया सिव्रीडेंको ने कहा, “दुश्मन के बजट को ये फंड नहीं मिलेगा, जिससे युद्ध को वित्तपोषित करने की उसकी क्षमता कम होगी।” उन्होंने कहा कि “यूक्रेन का ऐसा कदम हमारे पश्चिमी भागीदारों के लिए एक उदाहरण के रूप में काम कर सकता है और उन्हें रूस के खिलाफ प्रतिबंधों को मजबूत करने के लिए प्रोत्साहित कर सकता है, जिसमें ऊर्जा प्रतिबंध लागू करना और सभी रूसी बैंकों को अलग करना शामिल है।”

SEE MORE:

रुचि सोया का नाम बदलकर पतंजलि फूड्स होगा, कंपनी के शेयरों में लगभग 6 फीसद का उछाल

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने बार-बार पश्चिम देशों से रूसी तेल आयात और अन्य निर्यात का बहिष्कार करने की अपील की है। हालांकि, अमेरिका और उसके सहयोगी देश, रूस पर कई प्रतिबंध लगा चुके हैं, जिन्होंने मॉस्को को पहले ही अलग-थलग वाली स्थिति में डाल दिया है। वहीं, शनिवार को ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि अभी और प्रतिबंध लगने वाले हैं।
Advertisement