युवती का बैंक एटीएम बदलकर निकाली 20 हजार रूपए की नकदी

137
Advertisement

पीडि़ता मिनाक्षी गुप्ता का आरोप – पुलिस ने ना सहायता दी और ना की सुनवाई

कहा – ना डायल 112 पहुंची और ना किसी ने डायल 1930 पर फोन उठाया

सारा मामला मिस अंडरस्टैंडिग के कारण हुआ – एसएचओ सुरेश कुमार

एस• के• मित्तल
सफीदों,     नगर के पंजाब एण्ड सिंध बैंक के एटीएम में किसी अनजान व्यक्ति ने एक युवती का कार्ड बदलकर 20 हजार रूपए की राशी उड़ा ली लेकिन इस मामले में उस वक्त नया मोड आ गया जब पीडि़त युवती ने पुलिस पर समय पर सहायता ना उपलब्ध करवाने का आरोप लगाया। पीडि़त युवती मिनाक्षी गुप्ता का कहना था कि उसे ना तो डायल 112, ना डायल 1930 और ना ही सिटी पुलिस से सहायता मिली। मिली जानकारी के अनुसार नगर के नागरिक अस्पताल के सामने स्थित नरेश मेडिकल हॉल को चलाने वाली मीनाक्षी गुप्ता अपने भाई को साथ लेकर नगर के पंजाब एंड सिंध बैंक के एटीएम से पैसे निकलवाने के लिए गई थी जैसे ही वह एटीएम में प्रवेश करने लगी कि तभी उसके पास कोई जरूरी फोन आ गया। मीनाक्षी गुप्ता ने अपने भाई को अपना एटीएम देते हुए कहा कि वह एटीएम बूथ में जाकर पैसे निकाल लाए लेकिन वहां पर मौजूद किसी अनजान व्यक्ति ने मौके का लाभ उठाकर उसके भाई से कहा कि लाओ मैं पैसे निकालकर देता हुं। उस अनजान व्यक्ति ने पैसे निकालकर अपने पास रख लिए और एटीएम कार्ड बदल दिया डुप्लीकेट कार्ड मिनाक्षी के भाई को थमा दिया। वह व्यक्ति असली एटीएम कार्ड व पैसे लेकर मौके से नौ दो ग्यारह हो गया। उसके भाई ने बाहर आकर मिनाक्षी को कार्ड पकड़ाया। मिनाक्षी ने एटीएम कार्ड देखा तो वह कुछ अलग सा दिखाई पड़ा। वह सारा मामला तत्काल समझ गई। उसने भारतीय स्टेट बैंक के अपने खाते को ऑनलाईन चेक किया तो पाया कि उसके खाते से 20 हजार रूपए उड़ा लिए गए है। मिनाक्षी गुप्ता ने बताया कि उसने तत्कान डायल 112 को फोन किया लेकिन मौके पर डायल 112 की गाड़ी मौके पर नहीं पहुंची। उसने डायल 112 पर कई बार फोन किया लेकिन परिणाम शून्य रहा। मिनाक्षी तत्काल सिटी थाना पहुंची और वहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों को सारा माजरा बताया। जिस पर पुलिस ने उसे कहा कि यह मामला थाने का नहीं बल्कि साईबर क्राइम का है और वह साईबर क्राइम के फोन नंबर 1930 पर फोन करके या ऑनलाईन अपनी शिकायत दर्ज करवाएं। मिनाक्षी ने 1930 पर काफी बार कॉल करके शिकायत दर्ज करवाने की कोशिश की लेकिन दूसरी ओर से कोई रिस्पांस नहीं आया। मिनाक्षी ने फिर सिटी थाने में जाकर गुहार लगाई लेकिन पुलिस ने फिर से वही बात दोहराई। चारो ओर से नतीजा शून्य रहने पर थक हारकर मिनाक्षी गुप्ता अपनी दुकान पर आकर बैठ गई। फिर मिनाक्षी गुप्ता ने सारा मामला मीडिया के सामने रखा।
यह भी देखें:-

चंद्रशेखर आजाद के शहीदी दिवस पर आजाद युवा संगठन ने लगाया रक्तदान शिवर… क्या है इस शिविर की खासियत… देखिए लाइव…

चंद्रशेखर आजाद के शहीदी दिवस पर आजाद युवा संगठन ने लगाया रक्तदान शिवर… क्या है इस शिविर की खासियत… देखिए लाइव…

मीडिया में मिनाक्षी ने कहा कि भले ही पुलिस सेवा, सुरक्षा व सहयोग का नारा देती है लेकिन उसे इस मामले में पुलिस की ओर से कोई सहयोग प्राप्त नहीं हुआ। मीडिया में जब मामला सामने आया तो पुलिस हरकत में आई और पीडि़ता मिनाक्षी गुप्ता से शिकायत प्राप्त की और अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 379 व 420 के तहत मामला दर्ज किया गया। इस मामले में सिटी थाना प्रभारी सुरेश कुमार ने कहा कि सारा मामला मिस अंडरस्टैंडिंग का है। मिनाक्षी को थाने में तैनात मुंशी ने डायल 1930 व ऑनलाईन शिकायत दर्ज करवाने के लिए कहा था लेकिन वह उनसे आकर नहीं मिली। मैने मिनाक्षी गुप्ता से बात करके उसकी शिकायत प्राप्त करके मामला दर्ज कर लिया है तथा जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement