यमुनानगर में निगम कर्मियों का प्रदर्शन: मांगों को लेकर तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा; बोले- 3 महीने का वेतन नहीं मिला

25
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के यमुनानगर में लघु सचिवालय के बाहर निगम कर्मचारियों ने मांगों को लेकर प्रदर्शन किया और तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। कर्मियों ने बताया कि टिप्पर कर्मियों को 6: महीने पहले हटा दिया गया है, लेकिन उनका 3 महीने का वेतन और 9 महीने के भविष्य निधि फंड पर सरकार कुंडली मार कर बैठ गई है।

किसानों ने CM हाउस के बाहर गुजारी रात: आज शाम 5 बजे तक देंगे धरना, सरकार के पुतले का करेंगे दहन, 1 को कुरूक्षेत्र में होगी बैठक

सरकार की मंशा न तो इन कर्मियों को ड्यूटी पर बहाल करने की और न ही इनका वेतन देने की लग रही है। सफाई कर्मी नेता पवन का कहना है कि यह कैसा न्याय है कि एक तरफ़ तो सरकार चुनावी वादों में लोगों को रोजगार, शहर की सुन्दरता व सफाई व्यवस्था पर लोक लुभावने घोषणा पत्र जारी करती है।

कर्मियों के प्रदर्शन के दौरान लघु सचिवालय में तैनात पुलिस।

कर्मियों के प्रदर्शन के दौरान लघु सचिवालय में तैनात पुलिस।

जनता को मंहगाई कम करने के आश्वासन देती है पर सत्ता में आते ही थोड़े दिन काम करने का आडम्बर रचती है और फिर अपने असली रूप में आकर हमारा रोजगार और मेहनत की कमाई दोनों छीन लेती है। सरकार ने करोड़ों रुपए खर्च कर टिप्पर बनवाये। एक-एक टिप्पर पर 10 से 15 लाख रुपए का खर्च आया। आज वह कहीं भी प्रयोग न कर नकारा होने के लिए छोड़ दिये गये हैं।

 

खबरें और भी हैं…

.
एक नीलामी में पहली पीढ़ी का सीलबंद iPhone 28 लाख रुपये में बिका: सभी विवरण यहाँ

.

Advertisement