महेंद्रगढ़ मे शराब ठेके के विरोध में धरना: रामविहार कॉलोनी वासियों और पूर्व MLA के बीच खींचतान; राव बहादुर का VIDEO वायरल

33
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में शराब का ठेका खोलने के विरोध में महिलाओं और पुरुषों ने बुधवार शाम को 2 घंटे तक धरना देकर प्रदर्शन किया। पसाथ ही प्रशासन को चेताया गया कि अगर अधिकारी अब भी नहीं जागे तो कॉलोनी निवासी विचार विमर्श कर आगे आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेंगे। किसी भी हाल में यहां पर ठेका नहीं खुलने देंगे। धरना प्रदर्शन के बाद कॉलोनी निवासियों ने आगे की रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया।

ससुराल से परेशान महिला बच्चे साथ पहुंची नहर पर: किया आत्महत्या का प्रयास, राहगीरों ने पकड़ा, सास ससुर पर लगाए गंभीर आरोप

 

सीटीएम को दे चुके ज्ञापन

महेंद्रगढ़ में गौशाला रोड पर रामविहार कॉलोनी के बाहर शराब के ठेके का निर्माण किया जा रहा है। इस विषय को लेकर मंगलवार कॉलोनी वासियों ने सीटीएम डॉक्टर मंगलसेन को एक ज्ञापन सौंपा था। उसके बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो आज शाम 6 बजे के बाद कॉलोनी निवासियों ने प्रस्तावित ठेके के सामने धरना प्रदर्शन किया और प्रशासन को चेताया।

धरने के दौरान नारेबाजी करते हुए कॉलोनीवासी।

धरने के दौरान नारेबाजी करते हुए कॉलोनीवासी।

राव बहादुर सिंह की भाषा की आलोचना

कॉलोनी निवासियों ने बताया कि राव बहादुर सिंह ने जिस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल किया वह ठीक नहीं था। वे नांगल चौधरी से विधायक भी रह चुके हैं और यदुवंशी स्कूल के चेयरमैन भी है और शिक्षण संस्थान भी चला रहे हैं।

जिला परिषद के सीईओ ने जल शक्ति अभियान का निर्धारित लक्ष्य पूरा करने के दिए निर्देश कहा- अधिकारी अभियान के तहत कार्यों को प्रतिदिन पोर्टल पर करें अपलोड

सोमवार को जंहा कॉलोनीवासियों व राव बहादुर सिंह के बीच हुई नोकझोंक का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में नागरिकों द्वारा पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह से अपील की जा रही है कि वो यहां ठेका नही खोले, जिस पर पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह ने कहा कि मैं राजनीति के चक्कर मे अपना कारोबार नही खत्म कर सकता हूं। आप को जो करना है वो कर लो। नांगल चौधरी से पूर्व विधायक व यदुवंशी स्कूल के चैयरमेन राव बहादुर सिंह सन 2009 से 2014 तक नांगल चौधरी से इनेलो के विधायक रहे है। अब वे कांग्रेस पार्टी में है।

 

खबरें और भी हैं…

.
भिवानी में पशुपालन विभाग सतर्क: लंपी से निपटने के लिए बनाई 40 टीमे; राजस्थान सीमा से सटे गांवों पर विशेष नजर

.

Advertisement