मनरेगा मजूदरों ने एसडीएम कार्यालय पर दिया धरना

65
Advertisement

 

एस• के• मित्तल
सफीदों, उपमंडल के गांव हाट स्थित तालाब की मनरेगा मजदूरों द्वारा की जा रही खुदाई का कार्य हटकेश्वर तीर्थ कमेटी के सदस्यों द्वारा रूकवाएं जाने से रोषित मनरेगा मजदूरों ने शुक्रवार को एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस धरने की अगुवाई मनरेगा मेट जगपाल ने की। धरने के दौरान मजदूरों ने नारेबाजी भी की। मनरेगा मजदूरों का आरोप था कि गांव हाट में मनरेगा के तहत हटकेश्वर धाम के तालाब की खुदाई की जा रही थी।

SEE MORE:

सप्तमी पर जयंती देवी मंदिर में लगा मेला , स्वयं सेवकों ने संभाली व्यवस्था , सड़क पर नहीं लगने दिया जाम

हटकेश्वर धाम की कमेटी के सदस्यों ने तालाब की खुदाई का कार्य यह कहकर रूकवा दिया कि गर्मी के समय में पशुओं के लिए गांव में पानी पीने की समस्या बनी हुई है। मनरेगा के तहत इस तालाब खुदाई में काफी समय लग जाएगा। ऐसे में इस समय तालाब की मजदूरों से खुदाई करवाना गलत है। इसलिए यह तालाब खुदाई का कार्य गर्मी के सीजन के बाद करवाया जाए तथा इसमें पानी भरकर पशुओं के लिए पीने के पानी की व्यवस्था की जाए।

ग्रामीणों द्वारा खुदाई का कार्य बंद करवाने के आहत मनरेगा मजदूर सीधे नगर के मिनी सख्चिवालय पहुंचे और एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना दे दिया। मजदूरों की मांग थी कि तालाब की खुदाई तत्काल शुरू करवाई जाए तथा तीर्थ कमेटी के पदाधिकारियों के द्वारा सरेआम सरकारी काम में बाधा डाली जा रही है। मनरेगा मजदूरों के धरने पर एसडीएम आईएएस डा. आनंद कुमार शर्मा पहुंचे। एसडीएम ने मनरेगा मजदूरों को आश्वासन दिया गया कि शनिवार सुबह पुलिस की मौजूदगी में तालाब की खुदाई का कार्य शुरू करवाया जाएगा। एसडीएम के आश्वासन के उपरांत मजदूर वापिस लौट गए।

फोटो कैप्शन 3.: एसडीएम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे हुए मनरेगा मजदूर।

Advertisement