बेकाबू ट्रक से बचाने के चक्कर में बस पलटी

196
Advertisement

कई सवारियां मामूली रूप से हुई घायल 

अगला शीशा तोड़कर सवारियों को निकाला बाहर

एस• के• मित्तल
सफीदों,   सफीदों-जींद हाईवे पर स्थित गांव मलार मोड़ के पास मंगलवार सुबह एक बेकाबू ट्रक की चपेट में आकर एक प्राइवेटबस पलट गई। बस में सवार कई सवारियां मामूली रूप से घायल हो गईं। वहीं मैले से भरा ट्रक सड़क के किनारे खाई में उतर गया। इस ट्रक की चपेट में आकर एक मोटरसाइकिल सवार भी घायल हो गया। गनीमत तो यह रही के बस चालक व परिचालक ने सूझबूझ का परिचय देते हुए बस के अगले बड़े शीशे को तोड़कर सवारियों को बाहर निकाल लिया अन्यथा कोई भी बड़ा जानी नुकसान हो सकता था। वहीं मौके पर आसपास के गांवों के काफी तादाद में लोग पहुंच गए और बचाव अभियान चलाया। घायलों को सफीदों के नागरिक अस्पताल में लाया गया। जहां से एक महिला को अधिक चोटें होने के कारण उसे जींद रैफर कर दिया गया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई थी। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह करीब साढ़े 8 बजे सफीदों-जींद मार्ग पर गांव मलार मोड़ के पास से एक सवारी बस जींद से सफीदों की ओर आ रही थी और सफीदों की ओर से एक ट्रक जींद की तरफ जा रहा था। बस के समीप आते ही ट्रक बेकाबू हो गया और वह सड़क की बीच की पट्टी को पार करते हुए बस में सार्ईड़ मार दी। ट्रक से बस को बचाने के लिए ड्राईवर ने उसे सड़क से नीचे कच्चे में उतारा तो बस पलट गई।
यह भी देखें :-
दूसरी ओर ट्रक की विपरित दिशा में जाते हुए सड़क के नीचे खाई में उतर गया। खाई में उतरते-उतरते ट्रक चालक ने बस के पीछे चल रहे एक बाईक सवार को अपनी चपेट में ले लिया। ट्रक के साथ-साथ बाईक और उस पर सवार चालक भी झांडियों में गिर गए। बस पलटते ही बस में बैठी सवारियों में हाहाकार मच गया तथा ड्राइवर अमित व कंडक्टर रामरतन ने सूझबूझ का परिचय देते हुए बस के आगे के बड़े शीशे को एकदम से तोड़ दिया तथा आगे के रास्ते सवारियों को सकुशल बाहर निकाल लिया। बताया जाता है कि इस बस में करीब 30 सवारियां बैठी हुईं थीं। जिनमें से 4 सवारियां चोटिल हुई। जिन्हें सफीदों के नागरिक अस्पताल में लाया गया। जिनमें से एक महिला प्रकाशी देवी निवासी बिरौली को कुछ ज्यादा चोटें होने के कारण उसे जींद अस्पताल रेफर किया गया। वहीं ट्रक की चपेट में आने से मोटरसाइकिल सवार गांव रजाना निवासी दीपक भी घायल हो गया, जिसे भी जींद अस्पताल ले जाया गया है। घटना को अंजाम देकर ट्रक चालक मौके से फरार हो गया। ट्रक चालक अमित कुमार का कहना है कि उनकी बस की स्पीड बेहद कम थी क्योंकि गांव मलार मोड़ से सवारियों को उतारना व चढ़ाना था। जिससे काफी बचाव रह गया। परिचालक रामरतन का कहना है कि ट्रक का चालक या तो नींद में था या मोबाइल पर लगा हुआ था। उसका ध्यान सड़क पर नहीं था और उसने अपने ट्रक का रूख विपरीत दिशा में कर दिया। जिसके कारण यह हादसा हुआ है। मामले की सूचना सफीदों पुलिस को दी गई।
Advertisement