न्याय के लिए डीएसपी से मिली डिड़वाड़ा गांव की मीना देवी  , डीएसपी आशीष कुमार ने दिया उचित कार्रवाई का भरोसा

145
Advertisement

 

 

एस• के• मित्तल

SEE MORE:

एडवोकेट एमपी जैन बने एसएस जैन सभा के प्रधान.जैन समाज ने जताई गहरी खुशी

सफीदों,        उपमंडल के गांव डिडवाड़ा की मीना देवी 2 महीने से इंसाफ के लिए दर-दर ठोकरे खाने को मजबूर है। थक-हारकर न्याय के लिए मीना देवी सफीदों के डीएसपी आशीष कुमार से मिली है। डीएसपी आशिष कुमार ने महिला को उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है। मीना देवी ने डीएसपी को बताया कि 11 जनवरी को उसके घर में करीब 3 लाख की चोरी हुई थी। जिसकी शिकायत उसने सदर थाना सफीदों में की थी और उस शिकायत पर उसने गांव के कुछ लोगों पर शक जाहिर किया था लेकिन उस शिकायत पर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। जिन लोगों पर शक जाहिर किया था वे लोग उसे डराने व धमकाने लगे। चोरी की इस घटना के एक महीने बाद 18 फरवरी को जब वह अपने घर पर दूध लेकर आ रही थी तो उसे अकेला देखकर आरोपियों ने उस पर डंडे-बिंडों से हमला बोल दिया। उसके हाथ व पैर में अधिक चोट होने के कारण उसे नागरिक अस्पताल सफीदों से पीजीआई खानपुर तथा वहां पीजीआई रोहतक रैैफर कर दिया गया। पुलिस ने उसकी एफआईआर तो दर्ज की ली लेकिन आरोपियों पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं होते देख मीना देवी ने एक शिकायत सीएम विंडो में शिकायत करवाई लेकिन वहां भी उसे न्याय नहीं मिला। सीएम विंडों ने उसकी शिकायत पर किसी अन्य महिला की रिपोर्ट अपलोड करके उसकी शिकायत को बंद कर दिया गया। मीना देवी ने बताया कि अब फिर से उसने सीएम विंडों में शिकायत प्रस्तुत की है। मीना देवी ने सदर थाना के एक एसआई पर पीजीआई रोहतक की रिपोर्ट देने के लिए पैसे लेने का भी आरोप लगाया है। सारा मामला सुनकर डीएसपी आशीष कुमार ने महिला मीना देवी को उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। डीएसपी आशीष कुमार ने बताया कि इस मामले में कार्रवाई के लिए एसएचओ सदर को आदेश दे दिए गए है। इसके अलावा महिला ने एसआई द्वारा पैसे लेने के आरोपों पर डीएसपी ने कहा कि अगर मीना देवी सबूत के साथ शिकायत देगी तो निश्चित तौर पर उस पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी

 

 

Advertisement