देश की नरेंद्र मोदी व प्रदेश की मनोहर सरकार में रामराज्य स्थापित: कंवरपाल गुज्जर

 

 

कहा: 5 लाख बच्चों को बांटे जाएंगे टैब, मॉडल संस्कृति स्कूलों की संख्या की जाएगी 500

 

एस• के• मित्तल 

सफीदों, देश की नरेंद्र मोदी व प्रदेश की मनोहर लाल सरकार में पूरी तरह से रामराज्य स्थापित है। यह बात प्रदेश के शिक्षा एवं वन मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कही।

जुलाना पुलिस की हिरासत में थर्ड डिग्री से हुई युवक की मौत पर एवीएस सफीदों छात्र संगठन ने किस प्रकार किया विरोध प्रदर्शन… देखिए लाइव…

वे शुक्रवार को उपमंडल के गांव बिटानी के 40 लाख रूपए की लागत से बनी राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक स्कूल की नई बिल्डिंग के उद्घाटन करने के उपरांत ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर हरियाणा गौसेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट विजयपाल सिंह व एसडीएम आईएएस डा. आनंद कुमार शर्मा भी विशेष रूप से मौजूद थे। इस कार्यक्रम के सूत्रधार भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रणबीर बिटानी ने आए हुए अतिथियों का बुके व शॉल भेंट करके अभिनंदन किया। इस मौके पर शिक्षा मंत्री ने स्कूल प्रांगण में पौधारोपण भी किया। अपने संबोधन में शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुज्जर ने कहा कि सरकार की ओर से रोजगार और विकास के मामले में किसी प्रकार का पक्षपात नहीं किया जा रहा है।

छोटी-छोटी बातों पर दांव पर लगा देते जिंदगी, नहर में छलांग लगा कर रहे आत्महत्या

युवाओं को योग्यता के आधार पर नौकरियां दी जा रही है तथा प्रदेश में समान रूप से विकास कार्य चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार शिक्षा के क्षेत्र में नित नए क्रांतिकारी कदम उठा रही है। प्रदेश की बेटियों को कालेज की पढ़ाई निकट में उपलब्ध करवाने के लिए हर 20 किलोमीटर के दायरे में कालेज की स्थापना की जा रही है। मेवात से सिरसा तक इन 7 सालों में सरकार 68 कालेज खोल चुकी है तथा 3 नए कॉलेज खोलने की घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की है।

सिरसा नगर परिषद ने लगाई डस्टबिन चोरी, आप जिलाध्यक्ष ने कहा डस्टबीन की खरीद में हुआ घोटाला

उन्होंने कहा कि सरकार ग्रामीण स्तर पर शिक्षा को बढ़ावा देने के मकसद से संस्कृति मॉडल स्कूलों की स्थापना की जा रही है। अब तक 138 संस्कृति स्कूलों की घोषणा की जा चुकी है और उनमें से 116 स्कूल शुरू हो चुके हैं। सरकार का इन स्कूलों की संख्या 500 करने का है। इसके अलावा बच्चों को तकनीकी शिक्षा से जोडऩे के लिए उन्हे टैब देने की योजना लागू की गई है। सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 5 लाख बच्चों को सरकार की ओर से टैब दिए जाएंगे। वहीं इस टैब के साथ-साथ बच्चों को तमाम सॉफटवेयर के साथ 2जीबी का डाटा हर रोज दिया जाएगा। वहीं सरकार ने सुपर-100 स्कीम भी चलाई है। जिसके तहत 80 प्रतिशत नंबर हासिल करने वाले बच्चों को सरकार की ओर से ही कोचिंग दिलवाकर उन्हे उच्च शिक्षा के लिए भेजा जाएगा। सरकार की इस योजना ने काफी बच्चे आईआईटी व एमबीबीएस में सेलेक्ट हुए हैं। उन्होंने पृथ्वी दिवस पर बोलते हुए कहा कि आज बड़ी चिंता का विषय है कि पर्यावरण निरंतर खराब हो रहा है, भूजल का स्तर निरंतर गहरा होता चला जा रहा है, पक्षियों की मौतें हो रही है तथा इंसान विभिन्न बीमारियों से ग्रस्त होता चला जा रहा है लेकिन लोग इसके प्रति सचेत नहीं हुए हैं। अगर हम समय पर सचेत नहीं हुए तो जीवन बड़ा मुश्किल हो जाएगा। इस सब का एक ही उपाय है ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाना। इस कार्य में स्वयंसेवी संस्थाएं भी अपनी महम्त्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। प्रदेश की कोई भी सामाजिक संस्था पर्यावरण के क्षेत्र में काम करना चाहती है तो उसे सरकार की ओर से हरसंभव मदद प्रदान की जाएगी। इसके अलावा स्कूली बच्चों को सरकार की ओर से पौधे दिए जाएंगे। वह बच्चा उस पौधे को अपने घर-आंगन, खेत या किसी अन्य स्थान पर लगाकर उसका संरक्षण करेगा।

जिस प्रकार से उस पेड़ की ग्रोथ होगी उसके हिसाब से उस बच्चे को नंबर भेज दिए जाएंगे। उन्होंने ग्रामीणों के द्वारा दिए गए मांगपत्र पर कहा कि इस गांव में 85 एकड़ पंचायती जमीन बताई गई है। ग्राम पंचायत अगर जमीन का प्रस्ताव पास करके उसे विभाग को देगी तो वन विभाग की ओर से उसमें बाग लगाया जाएगा और उनमें पेड़ों को बड़ा करके ग्राम पंचायत को ही सौंप दिया जाएगा। इससे गांव को लाभ भी पहुंचेगा तथा हरियाली भी बनी रहेगी। गांव के स्कूल को अपग्रेड करने की मांग पर उन्होंने कहा कि अगर स्कूल सरकार द्वारा निर्धारित नियमों पर खरा उतरेगा तो उसे तत्काल अपग्रेड कर दिया जाएगा। इस मौके पर हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के पूर्व सदस्य एवं प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट विजयपाल सिंह, हरियाणा गौसेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग, एसडीएम डा. आनंद कुमार शर्मा, डीईओ मदनलाल चोपड़ा, डीईओ सदानंद वत्स, कार्यकारी बीईओ दलबीर मलिक, ओबीसी मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रणबीर बिटानी, प्रिंस मुद्गिल, बलवंत पांचाल, हरीश शर्मा, रामरती वर्मा, सरोज भाटिया, सक्षम भाटिया, रवि थनई व गीता बिटानी मौजूद थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!