गलत रेशनलाइजेशन व ट्रांसफर के आधार पर सरकारी स्कूलों में पद समाप्त करना चाहती है सरकार: सलाह माध्यमिक शिक्षा विभाग में हैं 28882 पद रिक्त

43
Advertisement
एस• के • मित्तल   
सफीदों,          स्कूल कैडर लेक्चरर्स एसोसिएशन हरियाणा (सलाह) के राज्य प्रधान गुरदीप सैनी ने बताया कि हरियाणा सरकार ट्रांसफर के नाम पर गलत रेशनलाइजेशन करके हजारो पदों को समाप्त करना चाह रही है। किसी विद्यालय में जिस विषय में पहले से ही विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं उन पदों को केपट किया जा रहा है जो कि गलत है। शिक्षा विभाग ने बिना होमवर्क किए रेशनलाइजेशन सूची जारी की गई है यहां तक कि यह सूची विद्यालय या वेबसाइट पर भी जारी नहीं की गई है।
सलाह संगठन के वरिष्ठ उपप्रधान अशोक शर्मा ने बताया कि जिन स्कूल में किसी भी विषय के विद्यार्थी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हैं तो ऐसे पदों को केपट ना रखा जाए। जिन विषयों में विद्यार्थी कम संख्या में हैं जैसे फाइन आर्ट, गृह विज्ञान मनोविज्ञान, शारारिक शिक्षा ,कंप्यूटर आदि विषयों में पद केपट न किए जाए। पीटीआई , डीपी या पीजीटी शारारिक शिक्षा का पद सभी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में जरूर दिया जाए। सलाह संगठन के आईटी सेल प्रवक्ता अनिल सैनी ने बताया कि सरकार माध्यमिक शिक्षा विभाग में गलत रेशनलाइजेशन करके विभाग में 28882 पदों को समाप्त करने जा रही है। अधिकतर हाई स्कूलों से पीजीटी के पदों को समाप्त कर दिया गया है। इन स्कूलों के विद्यार्थी कैसे शिक्षा प्राप्त करेंगे। नए पदोन्नत पीजीटी को स्कूल अलॉट नहीं किए गए हैं ऐसे में पीजीटी ट्रांसफर ड्राइव से वंचित रह गए हैं।
मेवात पीजीटी की प्रोफाइल में रेस्ट ऑफ हरियाणा के ऑप्शन खुल रहे हैं जोकि गलत है व्यक्तिगत प्रोफाइल में अभी तक अंक अपडेट नहीं हो पाए हैं। कुछ शिक्षकों ने जोन 5,6,7 में दोबारा से इन जोन में स्कूल चयन किया गया था परंतु उनको अब जबरदस्ती ड्राइव में शामिल किया जा रहा है। उपरोक्त सभी समस्याओं का समाधान करने के उपरांत ही योग्य अध्यापकों की सूची जारी करके नई रेशनलाइजेशन सूची जारी करके स्कूल चयन के ऑप्शन उपलब्ध करवाए जाए। केपट पद करने की अपेक्षा सरकार इन पदों पर जल्द से जल्द नियमित शिक्षकों की भर्ती करें, ताकि राज्य के सभी स्कूलों में सभी विद्यार्थी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सके।
Advertisement