गर्मी में खूबसूरत वादियों का लुत्फ उठाने का है प्लान तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो होगी बड़ी समस्या

91
Advertisement

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लगने के बाद से लोग अपने-अपने घरों में कैद थे। लॉकडाउन हटते ही लोग बाहर घूमने का प्लान बना रहे हैं। दिल्ली जैसे शहरों में पड़ रही रिकार्ड गर्मी से परेशान लोग पहाड़ों की तरफ घूमने का मन बना रहे हैं। ऐसे में अगर आप भी गर्मी से बचने के लिए अपनी कार से मनाली या लेह-लद्दाख या कहीं दूर हिल स्टेशन पर घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो ये खबर आपके बहुत काम आएगी। आज हम यहां बात करने वाले हैं, उन सारी चीजों पर जो आपके सफर में काफी काम आएंगी।

SEE MORE:

मौसम का रखें ध्यान

पहाड़ों पर अपनी कार से घूमना वाकई में एक शानदार एक्सपीरियंस है, लेकिन कई बार आपके अच्छे-खासे प्रोग्राम को पहाड़ों का बिगड़ता मौसम और खराब कर सकता है। ऐसे में आपको अगर अपनी ट्रिप को सफल बनाना है, तो जिस भी डेस्टिनेशन पर जा रहे हैं, वहां के मौसम के बारे में सारी जानकारी जरूर लें। उदाहरण के तौर पर कहीं पहाड़ों पर मूसलाधार बारिश तो नहीं हो रही है। किसी तरह की कोई आंधी-तूफान की आशंका तो नहीं है, क्योंकि पहाड़ों पर मौसम का कोई भरोसा नहीं होता और लोगों के अक्सर वाहन वहां फंस जाते हैं। कई बार नदियों में उफान आने और लैंड स्लाइड का भी खतरा रहता है।

हिल स्टेशंस पर जाते वक्त सबसे जरूरी बातों में से एक है कार को पूरी तरह फिट रखना। इससे हमारा मतलब है कि गाड़ी की सर्विसिंग करवा कर इंजन ऑयल से लेकर ब्रेक ऑयल और कार के एयर फिल्टर तक, हर किसी चीज का ध्यान रखें। गाड़ी के टायर्स में प्रेशर की जांच जरूर करवा लें, इसके अलावा स्पेयर व्हील या स्टेपिनी को भी सही करवा कर रखें। इस बात की भी जांच कर लें की गाड़ी में कहीं से कोई आवाज तो नहीं आ रही, क्योंकि हिल स्टेशन पर गाड़ी को थोड़ी ऑफ रोडिंग करनी पड़ सकती है, जिस वजह से यदि कार का कोई पार्ट ढीला हो तो ऊबड़-खाबड़ इलाकों में वह टूट कर गिर सकता है।

SEE MORE:

PSBs प्रमुखों से 23 अप्रैल को मिलेंगी निर्मला सीतारमण, प्रदर्शन और प्रगति की करेंगी समीक्षा

ब्रेक और गियर का इस्तेमाल

ऐसा नहीं है कि पहाड़ी इलाकों में कार चलाने के लिए एक खास ट्रेनिंग की आवश्यकता है, लेकिन यह भी सही बात है कि पहाड़ पर एक छोटी सी गलती आपको बड़े जोखिम में डाल सकती है। इसलिए, ड्राइविंग के वक्त आपको गियर और ब्रेक के इस्तेमाल की सही जानकारी होना आवश्यक है। पहाड़ी इलाके के रास्ते खड़े, ढलान और खतरनाक मोड़ों से भरे होते हैं। इसीलिए, खड़ी ढलान पर चढ़ते या नीचे उतरते समय ब्रेक का उपयोग कम करें और दूसरे या तीसरे गियर का इस्तेमाल करें। ढलान से उतरते वक्त कभी-भी एक दम से ब्रेक न लगाएं, ऐसा करने से पीछे वाली गाड़ी आपकी कार को टक्कर मार सकती है और दुर्घटना घट सकती है।

Advertisement