करनाल में नाबालिग छात्रा ने की आत्महत्या: स्कूल में दूसरी छात्रा से किताब लेने को लेकर हुआ था झगड़ा, छात्रा व लड़के पर आरोप, बेटी बनना चाहती थी डॉक्टर

19
Quiz banner
Advertisement

 

 

हरियाणा के जिले करनाल के गांव सिकंदरपुरा की रहने वाली एक नाबालिग छात्रा ने जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या कर ली। वहीं इंद्री थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में भिजवा दिया। आज शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

करनाल में नाबालिग छात्रा ने की आत्महत्या: स्कूल में दूसरी छात्रा से किताब लेने को लेकर हुआ था झगड़ा, छात्रा व लड़के पर आरोप, बेटी बनना चाहती थी डॉक्टर

जानकारी के अनुसार गांव सिंकदरपुरा गांव की रहने वाली 11वीं कक्षा की छात्रा निकिता गांव बयाना के सारकारी में पढ़ती थी। छात्रा ने बुधवार को ही बयाना गांव के सरकारी स्कूल में नॉन मेडिकल में एडमिशन लिया था। वीरवार को छात्रा ने बयाना स्कूल की ही किसी छात्रा से पढ़ाई के लिए किताब ली थी, जिसका विरोध उसी स्कूल में पढ़ने वाली दूसरी छात्रा ने किया। शुक्रवार को स्कूल की छुट्टी के बाद दूसरी छात्रा और निकिता के बिच झगड़ा भी हुआ। जिसके बाद दुसरी छात्रा ने व उसके साथी लड़के ने निकिता के साथ मारपीट की और बुरा भला कहा। जिसके चलते शाम को निकिता ने घर पर जहरीला पदार्थ निगल लिया और शुक्रवार देर शाम को मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

छात्रा की मौत के बाद विलाप करती मां।

छात्रा की मौत के बाद विलाप करती मां।

बेटी बनाना चाहती थी डॉक्टर

छात्रा की मां ने बताया कि पहले उसकी बेटी गांव घीड़ के सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। 10वीं में उसने 90 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। उसकी बेटी का सपना था कि वह बड़ी होकर डॉक्टर बनेगी। लेकिन घीड़ गांव के सरकारी स्कूल से नॉन मेडिकल के अध्यापक का तबादला हो गया था। जिसके चलते बुधवार को ही निकिता का एडमिशन गांव बयाना के सरकारी स्कूल में 11वीं कक्षा में नॉन मेडिकल में करवाया था।

मछली विभाग के 2 रिश्वतखोर अफसर पकड़े: सब्सिडी के लिए DFO और FO ने मांगे थे 90 हजार, विजिलेंस ने 30 हजार लेते दबोचे

लड़की व लड़के पर लगाए मारपीट करने के आरोप

छात्रा निकिता की मां ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी बेटी निकिता के साथ बयाना गांव की लड़की व उसके साथी लड़के द्वारा दूसरी लड़की से किताब लेकर पढ़ने को लेकर मारपीट की गई। उसके बाद उसकी बेटी के पास फोन करके उसके साथ बदतमीजी की और उसकी बेटी की बदनामी करने के लिए उसे कहा। जिससे परेशान होकर उसकी बेटी ने ऐसा कदम उठाया।

मेडिकल कॉलेज के बाहर का दृश्य।

मेडिकल कॉलेज के बाहर का दृश्य।

लड़के के पिता पर भी लगे आरोप

छात्रा के पिता रणजीत ने कहा कि शुक्रवार को दोपहर बाद उसकी बेटी का फोन आया था, उसके बाद बेटी ने उसे घर बुलाया और उसके साथ जो हुआ उसने मुझे बताया।

पानीपत के SDVM स्कूल में द डर्टी पिक्चर: 11वीं की छात्रा से टीचर ने की छेड़छाड़, प्रबंधक ने सस्पेंड कर करवाई FIR दर्ज

जिस लड़के ने उसकी बेटी के साथ मारपीट की थी उसके बारे में बताया और कहा की लड़का उसके पास बार-बार फोन करके उसे धमकी दे रहा है। जब मैने उस नंबर पर फोन किया तो लड़के ने उसका फोन काट दिया और फोन को बंद कर दिया। उसके बाद जब कुछ देर बाद फोन किया तो लड़के बात हुई तो लड़के ने उसके साथ भी बदतमीजी की।

मौके पर पहुंच कर जांच करती पुलिस।

मौके पर पहुंच कर जांच करती पुलिस।

जब वह पुलिस चौकी में शिकायत देने गया तो लड़के पिता का फोन आया और उसे धमकाने लगा। लेकिन चौकी तक पहुंचने से पहले भी घर से फोन आया कि निकिता ने जहरीला पदार्थ निगल लिया। जब वह घर पहुंचा तो उसकी बेटी ने कहा पापा वह आपका सर नीचे नहीं करवाना चाहती थी। लड़के के बार-बार उसे फोन आ रहे थे और वह उसे धमकियां दे रहा था। जिसके चलते उसने यह कदम उठाया। देर शाम को मेडिकल कॉलेज में उसकी बेटी की इलाज के दौरान मौत हो गई।

तीनों पर की कार्रवाई की मांग

​​​​​​​पिता रणजीत ने कहा कि आरोपी लड़की, लड़का का दोस्त लड़का व उसके पिता पर वह सख्त से सख्त से कार्रवाई की मांग करते है। इन तीनों की वजह से आज मेरी बेटी दुनियां में नहीं है।

मछली विभाग के 2 रिश्वतखोर अफसर पकड़े: सब्सिडी के लिए DFO और FO ने मांगे थे 90 हजार, विजिलेंस ने 30 हजार लेते दबोचे

वर्जन

​​​​​​​इंद्री थान के जांच अधिकारी सुरेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि एक छात्रा द्वारा आत्महत्या का मामला सामने आया है। परिजनों बयान गांव की एक लड़की, उसके दोस्त लड़के व लड़के के पिता पर आरोप लगाए है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही

.

.

Advertisement