करनाल में गेस्ट टीचरों ने किया धरना समाप्त: मुख्यमंत्री प्रतिनिधि के आश्वासन पर उठे टीचर, बाले अगर नहीं मानी मांगे तो आगे करेंगे आंदोलन तेज

25
Quiz banner
Advertisement

हरियाणा के जिल करनाल में प्रदेश भर के गेस्ट टीचरों ने ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी के विरोध में रविवार शाम को CM आवास का घेराव किया था। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें CM आवास से कुछ दूरी पर बेरिकेटिंग कर उन्हें रोक दिया गया था। जिसके बाद प्रदेश भर के गेस्ट टीचर वहीं पर धरना देकर बैठ गए थे।रविवार देर रात को मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला ने गेस्ट टीचरों के पास पहुंचे और उनकी मांगों को पूरा करवाने व CM से उनकी बात करवाने का आश्वासन देकर धरने को समाप्त करवाया। धरना समाप्त करने के बाद प्रदेशभर के गेस्ट टीचरों ने अपने आवासों की तरफ लौट गए।

असामयिक मृत्यु पर दुखः प्रकट किया: मृतक कर्मचारी के परिवार से मिला माकपा प्रतिनिधिमंडल

शाम को किया था CM आवास का घेराव

बता दे कि अपनी मांगों को लेकर रविवार शाम को प्रदेश के गेस्ट टीचरों ने सेक्टर 12 से प्रेम नगर स्थित CM आवास को घेराव किया था। CM आवास से कुछ दूरी पर पुलिस ने गेस्ट टीचरों को ने बेरिकेटिंग कर दी। जिसके बाद प्रदेशभर के गेस्ट टीचर वहीं पर धरना लगा कर बैठ गए थे। प्रदेशभर के गेस्ट टीचरों के धरने को देखते हुए CM प्रतिनिधि संजय बठला ने मौके पर पहुंचकर गेस्ट टीचरों को आश्वान देकर उनका धरना समाप्त करवाया।

रात को मौके पर पहुंचकर बातचीत करते मुख्यमंत्री प्रतिनिधि।

एलोन मस्क ने ट्विटर 2.0 को ब्लू-सब्सक्राइबर्स के लिए लॉन्ग-फॉर्म कंटेंट और फुल वीडियो पर फोकस किया

पॉलिसी के विपरीत की गई ट्रांसफर

CM आवास के बाहर देर रात तक बैठे प्रदर्शनकारी अध्यापकों ने कहा कि हरियाणा में गेस्ट टीचरों की एक पॉलिसी थी, जिसके खिलाफ कोई भी नियमित अध्यापक नहीं आ सकता था। ग्रामीण क्षेत्र के लिए यह पॉलिसी बनाई गई थी, लेकिन इस पॉलिसी के विपरीत में गेस्ट टीचरों की ट्रांसफर कर दी। अतिथि अध्यापकों के लिए 10-10 जिले मांगे गए और उसमें गृह जिला भी मांगा गया, लेकिन किसी को भी गृह जिला नहीं दिया गया। इसके अलावा 400 किलोमीटर दूर ट्रांसफर कर दी। जिसके विरोध में गेस्ट टीचर्स को प्रदर्शन करना पड़ रहा है। जब तक पॉलिसी वापिस नहीं होती तब तक यूं ही प्रदर्शन चलेगा।

ऑनलाइन ट्रासफर पॉलिसी के विरोध में अध्यापक

रात के अंधेरे में CM आवास का घेराव करने के लिए पहुंचे गेगेस्ट टीचर ट्रांसफर पॉलिसी के खिलाफ है और लगाताार इस पॉलिसी का विरोध करते आ रहे है। लेकिन सरकार उनकी मांगे सुनने तक भी तैयार नहीं है। रविवार शाम को प्रदेश भर के गेस्ट टीचरों ने करनाल के सेक्टर-12 पार्क से प्रदर्शन करते हुए प्रेमनगर में CM आवास तक पहुंचे। जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई और पुलिस ने गेस्ट टीचरों को CM आवास से कुछ दूर पहले ही बेरिकेटिंग से रोक लिया। गेस्ट टीचर अपनी मांग पर अडिग रहे और कहा जब तक मांग पूरी नहीं हो जाती तब तक वह पीछे नहीं हटेंगे।

रात को धराने को संबोधित करते यूनियन के नेता।

रात को धराने को संबोधित करते यूनियन के नेता।

गृह क्षेत्र से 400 किलोमीटर तक दूर पर ट्रांसफर

देर रात को धरने पर बैठे अतिथि अध्यापकों ने कहा कि सरकार द्वारा उनसे 10-10 जिले मांगे गए और उसमें गृह जिला भी मांगा गया, लेकिन किसी को भी गृह जिला नहीं दिया गया। इसके अलावा 400 किलोमीटर दूर ट्रांसफर कर दी। जिसके विरोध में गेस्ट टीचर्स को प्रदर्शन करना पड़ रहा है। जब तक पॉलिसी वापिस नहीं होती तब तक यूंही प्रदर्शन चलेगा।

असूस आरओजी फोन 6 और आरओजी फोन 6 प्रो अब भारत में उपलब्ध: कीमत, वेरिएंट और बहुत कुछ

क्या बोल मुख्यमंत्री प्रतिनिधि

​​​​​​​मुख्यमंत्री प्रतिनिधी संजय बठला ने बताया कि कुछ टीचर्स की ड्यूटी 200 किलोमीटर दूर तक भी लगी हुई है। टीचर मांग कर रहे है कि उन्हें होम डिस्ट्रिक्ट या फिर साथ लगते जिले में भेजा जाए। हालांकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पॉलिसी बनाई भी हुई हैं कि गेस्ट टीचर्स को होम डिस्ट्रिक्ट में ही रखा, या दूर भी भेजना पड़ रहा हैं तो नजदीकी डिस्ट्रिक्ट में भेजा जाए लेकिन कुछ गेस्ट टीचर्स ने समस्या रखी। जिसको लेकर मुख्यमंत्री से बात की जाएगी और समाधान निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि वह गेस्ट टीचरों के बीच पहुंचे और गेस्ट टीचरों की बात को ध्यान से सुना और उनकी मांग को लेकर ठोस आश्वासन दिया।

 

खबरें और भी हैं…

.
जिप व ब्लॉक समिति के चुनावों की मतगणना आज: 8 बजे शुरू होगी मतगणना शुरू, जिप के 239 तो ब्लॉक समिति में 880 उम्मीदवार दौड़ में

.

Advertisement