कब्जा छुड़वाने को लेकर डीएसपी से मिले ग्रामीण

56
Advertisement

 

 

एस• के• मित्तल       

सफीदों, उपमंडल के गांव बागडू कलां में एक व्यक्ति द्वारा अपनी ही बहनों, भाईयों व मां के हिस्से की जमीन पर कब्जा कर लिए जाने के मामले में ग्रामीण डीएसपी आशिष कुमार से मिले। ग्रामीण बलबीर ने डीएसपी को बताया कि मेरे पिता जागेराम के नाम 54 कनाल जमीन थी जिनके देहांत के बाद 6 बहनों, 2 भाईयों व मां में 9 बराबर हिस्सों में 6-6 कनाल जमीन बांट दी गई थी।

टूटे रास्ते से तंग कन्या कालेज की छात्राओं ने किया प्रदर्शन

जिसमें से जगदीश के हिस्से मे आई हुई 6 कनाल जमीन को उसने बेच दिया था। जिसके कुछ समय बाद मेरी बहन संतरों ने अपने हिस्से में आने वाली 6 कनाल जमीन को जगदीश के नाम करवा दिया था। जमीन नाम होने के कुछ समय बाद फिर जगदीश ने संतरों के द्वारा नाम करवाई हुई 6 कनाल जमीन को बेच रहा था। जिसको मैंने खरीद कर लिया था और पहले बेची गई जमीन को भी मैने खरीददार से खरीद लिया था। जिसके बाद मेरी बहन रोशनी ने मेरे भाई जगदीश के लड़के जोगिंद्र के नाम अपने हिस्से मे आने वाली 6 कनाल जमीन को करवा दिया था।

सिरसा में युवक को चोर बता किया हंगामा: सालासर मंदिर के बैग समेत पकड़ा; कंगन-चूड़ी बेचने वाला निकला

रोशनी के द्वारा नाम करवाई गई 6 कनाल जमीन में से 4 कनाल जमीन जोगिन्द्र के द्वारा बेच दी गई थी। जिसके बाद जोगिन्द्र के पास कुल 2 कनाल जमीन बची हुई है। मेरे भाई जगदीश ने मेरी मां रामप्यारी के हाथों पर चोट मार दी थी। जिसके बाद मेरी मां रामप्यारी के द्वारा उसके हिस्से मे आने वाली 6 कनाल जमीन को मेरे नाम करवा दिया गया था और मेरी 3 बहनों कृष्णा, कमलेश व बिमला ने अपनी कुल 18 कनाल जमीन मेरे नाम करवा दी थी। अब मेरे पास कुल 42 कनाल जमीन है।

रेवाड़ी में उपजा नामकरण विवाद: कोसली-भाकली के बीच लंबे समय से चल रही खींचतान; नगर पालिका बनाने की मांग

अब मेरे भाई जगदीश ने मेरी 13 कनाल 6 मरले जमीन पर जबरदस्ती कब्जा किया हुआ है। मैने जब उसे यह जमीन छोडऩे के बारे मे कहा तो वह मुझसे गाली-गलौज करता है तथा जान से मारने की धमकी देता है। हमारे परिवार को उससे जान का खतरा बना हुआ है। ग्रामीणों की बात सुनकर डीएसपी आशिष कुमार ने उन्हे उचित कार्रवाई का भरोसा दिया।

Advertisement